DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बसपा सरकार की गड़बडि़यां

लखनऊ, प्रमुख संवाददाता। विधानसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार को घेरने के लिए केन्द्रीय योजनाओं की गड़बडिम्यां कैसे तलाशी जाएं? उन गड़बडिम्यों को कैसे जनता के बीच ले जाया जाए? यह गुर सिखाने के लिए कांग्रेस फ्लैगशिप प्रोग्राम के सभी चेयरमैन को दिल्ली में 7 व 8 दिसम्बर को प्रशिक्षण शिविर लगाएगी। इस शिविर में केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री , भूतल परिवहन मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, केन्द्रीय पेट्रोलियम और केन्द्रीय उवर्रक मंत्री अपने-अपने विभागों की योजनाओं की जानकारी के साथ ही खामियां पकड़ने के तौर-तरीके भी बताएंगे।

कांग्रेस महासचिव और सांसद विलास मुतीम्बर की ओर से यूपी कांग्रेस को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि केन्द्रीय योजनाओं में गड़बडिम्यां होने की शिकायतें मिल रही हैं। गरीब जनता के लिए तैयार योजनाओं का लाभ उन्हें नहीं मिल रहा है। लिहाजा, योजनाओं की जानकारी देने के लिए फ्लैग शिप कार्यक्रम में स्टेट चेयरमैन को प्रशिक्षित किया जाना है।

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि जाहिरा तौर पर प्रशिक्षण के इस एजेंण्डे के पीछे असली मकसद चुनावी हथियार की तलाश है। कांग्रेस ने फ्लैगशिप प्रोग्राम की निगरानी के लिए मनरेगा समिति, बाल एवं पुष्टाहार समिति, एनआरएचएम समेत 10 योजनाओं की समितियां बना रखी हैं। यूपी और एआईसीसी के बीच के समन्वयक डॉ.आरपी त्रिपाठी ने स्वीकार किया है कि फ्लैगशिप प्रोग्राम के सभी चेयरमैन को प्रशिक्षण के लिए बुलाया गया है। गौरतलब है कि कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने पूर्वाचल व तराई क्षेत्र के हालिया दौरे में यूपी सरकार को घेरने के लिए केन्द्रीय योजनाओं में गड़बडिम्यों को ही मुख्य हथियार बनाया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बसपा सरकार की गड़बडि़यां