DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानाध्यापकों के विवाद में स्कूल में चलीं गोलियां

देवरिया। हिन्दुस्तान संवाद। रावत पार रघेन प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य नसीम अहमद और उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य विनोद सिंह के बीच बुधवार को बच्चों के बैठने को लेकर कहासुनी हो गई। विवाद को लेकर उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रधानध्यापक के परिजनों ने विद्यालय पहुंच कर प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य को हॉकी और लाठी पीटर कर बुरी तरह घायल कर दिया। घायल प्रधानाचार्य ने बचाव में अपनी लाइसेन्सी रिवाल्वर से हवाई फायरिंग की तो दूसरे पक्ष के लोगों ने उनकी रिवाल्वर छीन ली। उन लोगों ने रिवाल्वर से दो राउण्ड हवाई फायरिंग की।

विद्यालय परिसर में गोली व चलने व मारपीट से भगदड़ मच गई। बच्चों बदहवाश हालत में विद्यालय से भाग गए। इसी बीच किसी ने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी। पुलिस ने प्रधानाध्यापक विनोद सिंह व उनके भाई अरविन्द को गिरफ्तार कर लिया। नसीम अहमद का इलाज सदर हास्पीटल में कराया जा रहा है। प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक नसीम अहमद और उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक विनोद सिंह अपने-अपने विद्यालय पर बच्चों को पढ़ा रहे थे।

दिन में करीब 11 बजे प्राथमिक विद्यालय के कुछ बच्चों जूनियर विद्यालय के कैम्पस में चले गए। इस बात पर विनोद सिंह ने नसीम अहमद से कहा कि बच्चों को सम्भालो। इस पर नसीम ने क हा कि बच्चों को मैं नहीं सम्हालता हूं, तो क्या आप सम्हालते हैं। इसी बात को लेकर दोनों में कहा सुनी और गाली गलौच होने लगी। प्रधानाध्यापक विनोद सिंह ने इसकी जानकारी अपने गांव रावत पार अमेठिया में दे दी। जानकारी होने के बाद उनके दो भाई, भतीजा और पिता हाकी-लाठी लेकर विद्यालय पहुंच गए।

इन लोगों ने नसीम अहमद को बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया। बचाव में नसीम ने अपनी लाइसेन्सी रिवाल्वर निकालकर हवाई फायरिंग की। इसी बीच उन लोगों ने उसकी रिवाल्वर छीन ली और जवाब में दो राउण्ड फायरिंग की। इसके बाद नसीम की जमकर पिटाई की। इसमें नसीम के दाहिने पैर की हडडी टूट गई है।

उसके सिर में और दाहिने आंख में भी बुरी तरह से चोटे लगी हैं। विद्यालय परिसर में मारपीट व गोली चलने की इस घटना से बच्चों दहशत में आ गए तथा स्कूल छोड़कर इधर उधर भागने लगे। किसी तरह थोड़ी ही देर में बच्चों भागकर स्कूल से बाहर निकल गए। इसी बीच किसी ने घटना की जानकारी पुलिस को दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने प्रधानाध्यापक विनोद सिंह व उनके भाई अरविन्द सिंह को गिरफ्तार कर रिवाल्वर बरामद किया। पुलिस ने मौके से तीन खोखा बरामद भी बरामद किया। घायल प्रधानाध्यापक नसीम को लार प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया, जहां से इलाज के बाद उन्हें जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया।

नसीम अहमद ने विनोद सिंह, अरविन्द सिंह, व रितेश सिंह, पुत्रगण वृजराज सिंह व वृजराज सहित पांच लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। थानाध्यक्ष रामजी चौधरी ने बताया कि दोनों प्रधानाध्यापकों के बीच हल्की सी नोकझोंक हुई थी। लेकिन विनोद सिंह के परिजनों द्वारा विद्यालय पहुंच कर मारपीट की गई और नसीम अहमद की रिवाल्वर छीनकर गोली चलाई गई। घटना स्थल से तीन खाली खोखा बरामद किया गया है फिलहाल दो लोगों को पकड़ लिया गया है।

तहरीर मिली है मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। कमिश्नर के आदेश की उड़ रही धज्जियांमण्डलायुक्त के रवीन्द्र नायक ने प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में अध्यापकों के रिवाल्वर लगाकर विद्यालय जाने पर रोक लगाई है। उन्होंने विगत दिनों जारी अपने आदेश में कहा था कि किसी भी विद्यालय में कोई अध्यापक रिवाल्वर लगाकर या शस्त्र लेकर विद्यालय नहीं जाएगा। पर जिले में इस आदेश का कितना पालन हो रहा है, इसका पता बुधवार की घटना से चलता है। रिवाल्वर लेने वाले अधिकांश शिक्षक रिवाल्वर लेकर ही विद्यालय जाते हें।

पर विभाग इसकी न तो जांच करता है और न ही कोई कार्रवाई करता है।बच गई बच्चों की जानएक ही परिसर में स्थित प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय करीब 80 बच्चों थे। इन बच्चों का भविष्य बनाने की जिम्मेदारी लेने वाले प्रधानाध्यापकों को उनकी जान की भी चिन्ता नहीं हुई। दोनों ओर से हुई फायरिंग में गोली किसी बच्चों को भी लग सकती थी। संयोग था कि किसी बच्चों की ओर गोली नही चली और सभी बच्चों सकुशल बाहर निकल गए।एबीएसए की र्पिोट पर होगी कार्रवाईजिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ए एन मौर्य ने कहा कि दो प्रधानाध्यापकों के आपस में झगड़ा करने की जानकारी मिली है। एबीएसए को पूरे मामले की र्पिोट देने के लिए कहा गया है। र्पिोट आने के बाद जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। स्कूल में रिवाल्वर लगाकर जाने के मामले की भी जांच कराई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रधानाध्यापकों के विवाद में स्कूल में चलीं गोलियां