DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जागरूकता बढ़ी पर नहीं थमी एड्स रोगियों की संख्या

 मैनपुरी, हिन्दुस्तान संवाद। एड्स जागरूकता शिविरों के माध्यम से एचआईवी की जांच के लिए लोगों में जागरूकता बढ़ी पर इसके बाद भी रोगियों की संख्या कम नहीं हुयी। प्रतिवर्ष एचआईवी पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिला अस्पताल में एचआईवी रोग की जांच के लिए पर्याप्त साधन हैं, लेकिन अभी भी लोगों में कहीं न कहीं शर्म महसूस हो रही है। एड्स जैसी खतरनाक बीमारी के प्रति लोगों का जागरूक होना आवकश्यक है। जिला अस्पताल में एचआईवी जांच के लिए पर्याप्त प्रबंध है।

जिला अस्पताल के आंकड़ों पर नजर डालें तो पता चलता है कि वर्ष 2002 से लेकर अब तक जांच के बाद 160 रोगियों को एचआईवी पॉजिटिव पाया गया। जिनमें महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों की संख्या अधिक है। जिला अस्पताल में दर्ज रिकार्ड के अनुसार अभी तक 120 पुरुष, 39 महिलाएं तथा एक बच्चों में एचआईवी पॉजिटिव के लक्षण पाये गये हैं।

जिला अस्पताल में दर्ज रिकार्ड एक नजर में वर्ष जांच किये गये धनात्मक रोगियों रोगियों की संख्या की संख्या 2002 112 112003 107 132004 381 102005 437 102006 512 172007 442 152008 2741 302009 3477 242010 4207 152011 में अब तक 3150 की जांच हुयी तथा 15 लोगों में एचआईवी पॉजिटव पाया गया।

अस्पताल में है नि:शुल्क जांच की सुविधामैनपुरी। एचआईवी पॉजिटिव जांच की अस्पताल में नि:शुल्क व्यवस्था है। पैथोलॉजिस्ट डा. आरडी यादव ने बताय कि एचआईवी जांच की रिपोर्ट गुप्त रखी जाती है। जांच की विश्वसनियता के लिए एक व्यक्ति की तीन बार अलग-अलग किटों से जांच की जाती है। इसके बाद एचआईवी पॉजिटिव के लक्षण मिलने पर बिना किसी को जानकारी दिये संबंधित व्यक्ति का उपचार किया जाता है। दान किये गये रक्त में भी मिले पॉजिटिव लक्षण मैनपुरी। जिला अस्पताल में बनी ब्लड यूनिट को रक्तदान करने वाले तीन लोगों का रक्त भी एचआईवी पॉजिटिव निकला जिसे बाद में डॉक्टरों द्वारा नष्ट कर दिया गया। संबंधित व्यक्तियों को सूचना दी गई, जिसमें दो लोग तो उपचार के लिए पहुंचे, लेकिन एक व्यक्ति उपचार के लिए नहीं पहुंचा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जागरूकता बढ़ी पर नहीं थमी एड्स रोगियों की संख्या