DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खानकाहे नियाजिया में हुई सोज ख्वानी

 बरेली। निज संवाददाता। माहे मुहर्रम में अजादारी का सिलसिला जारी रहा। एक तरफ शिया मुसलमानों में आहो गिरिया का दौर जारी है तो दूसरी तरफ खानकाहे नियाजिया में भी सोज ख्वानी की रुहानी महफिल सजी। शिया मुसलमानों में अजादारी का दौर पूरी अकीदत के साथ जारी रहा । इस दौरान विभिन्न इमाम बाड़े व घरों में सुबह से ही आहो गिरिया का सिलसिला शुरू हुआ जो देर रात तक चलता रहा। काला इमामबाड़ा में मजलिस के बाद उठने वाला जुलूसे अलम अजुंमन शमशीरे हैदरी ने निकाला।

जुलूस में शाने हैदर व सिराज हैदर ने नौहाख्वानी की । मुहल्ला छीपी टोला के इमामबाड़ा मेंहदी हसन में आयोजित होने वाली दस दिवसीय मजलिस के आज चौथे दिन मौलाना कसीम हुसैन जैदी सेंथली ने अपने खिताब में बच्चों को आला तालीम दिलाने की अहमियत के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि जदीद तालीम हमारे बच्चों पर इतनी हावी न हो जाए कि हमारी नई नस्लें अपने दीन को ही भूल जाएं।

इस मौके पर समर अब्बास जैदी, कल्बे हुसैन, अदील जाफरी,कलीम हैदर नकवी, समर हैदर आब्दी, शकील हसन खां आदि मौजूद रहे।इमामबाड़ा खानकाहे नियाजिया में आज नोहा ख्वानी और सोज ख्वानी की महफिल सजी। इसमें बारगाह ए इमाम आली मकाम ओर शुहदाए करबला को नजराने अकीदत पेश किया गया। इस मौके पर तमाम स्वयंसेवी संगठनों से यौमे आशूरा को बाकरगंज स्थित करबला में कैंप लगाकर बारगाहे इमाम आली मकाम में खिराजे अकीदत पेश करने की अपील की गई। खानकाहे नियाजिया के प्रबंधक शब्बू मियां नियाजी ने बताया कि खानकाह से तख्तो और अलम शरीफ का जुलूस तीन दिसंबर को रवाना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खानकाहे नियाजिया में हुई सोज ख्वानी