अप्रत्यक्ष कर संग्रह 2.5 फीसदी घटा - अप्रत्यक्ष कर संग्रह 2.5 फीसदी घटा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अप्रत्यक्ष कर संग्रह 2.5 फीसदी घटा

सीमा शुल्क और केंद्रीय उत्पाद शुल्क वसूली घटने से अक्टूबर माह में अप्रत्यक्ष कर संग्रह में 2.5 प्रतिशत की कमी आई है। वित्त मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि सीमा शुल्क वसूली में 11.6 प्रतिशत की गिरावट आई है और अक्टूबर में यह 11,357 करोड़ रुपये रह गया है। पिछले वित्त वर्ष के अक्टूबर माह में सीमा शुल्क संग्रह 12,849 करोड़ रुपये था।
 
इसी तरह केंद्रीय उत्पाद शुल्क संग्रह अक्टूबर में 5.3 प्रतिशत घटकर 10,527 करोड़ रुपये रह गया है, जो अक्टूबर, 2010 में 11,120 करोड़ रुपये था। अप्रत्यक्ष कर संग्रह में और अधिक गिरावट आ सकती थी। लेकिन अक्टूबर में सेवा कर संग्रह 18.4 प्रतिशत बढ़ गया, जिससे यह गिरावट सीमित हो गई।
 
माह के दौरान सेवा कर संग्रह 8,394 करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो अक्टूबर, 2010 में 7,089 करोड़ रुपये रहा था। इस तरह कुल अप्रत्यक्ष कर संग्रह अक्टूबर में ढाई फीसदी की गिरावट के साथ 30,278 करोड़ रुपये रह गया, जो पिछले वित्त वर्ष के इसी माह में 31,058 करोड़ रुपये रहा था।
 
हालांकि जहां तक अप्रैल से अक्टूबर की अवधि का सवाल है अप्रत्यक्ष कर संग्रह इस दौरान 17.8 फीसदी की वृद्धि के साथ 2.01 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह आंकड़ा 1.70 लाख करोड़ रुपये का रहा था।
 
चालू वित्त वर्ष के पहले सात महीनों में सीमा शुल्क, उत्पाद शुल्क और सेवा कर वसूली में क्रमश: 16.6 प्रतिशत, 10.6 प्रतिशत और 33.6 प्रतिशत का इजाफा हुआ। अप्रैल-अक्टूबर के दौरान सीमा शुल्क वसूली 86,156 करोड़ रुपये की रही, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 73,895 करोड़ रुपये रही थी।
 
इसी तरह इस दौरान केंद्रीय उत्पाद शुल्क संग्रहण 69,511 करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो पूर्व वित्त वर्ष की समान अवधि में 62,838 करोड़ रुपये रहा था। सेवा कर वसूली इस अवधि में 33,977 करोड़ रुपये से बढ़कर 45,391 करोड़ रुपये पर पहुंच गई।

वित्त वर्ष के बाद के महीनों में अप्रत्यक्ष कर वसूली में गिरावट की मुख्य वजह उद्योग क्षेत्र का खराब प्रदर्शन रहा है। इसके अलावा सरकार ने पेट्रोलियम उत्पादों की मूल्यवृद्धि के बोझ से आम उपभोक्ता को राहत के लिए इन पर शुल्क घटाए हैं, जिसका भी कुल संग्रहण पर असर पड़ा। चालू वित्त वर्ष में अप्रैल से अगस्त की अवधि में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 5.6 प्रतिशत रही है, जो पूर्व वित्त वर्ष की इसी अवधि में 8.7 प्रतिशत रही थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अप्रत्यक्ष कर संग्रह 2.5 फीसदी घटा