DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच जिलों में पंचायत चुनाव स्थगित

पटना हिन्दुस्तान ब्यूरो। राज्य निर्वाचन आयोग ने जमुई, बांका, गया, औरंगाबाद और रोहतास जिले में पुनर्मतदान को छोड़कर पंचायत चुनाव के 18 से 24 मई तक निर्धारित कार्यक्रमों को कतिपय कारणों से स्थगित कर दिया है। आयोग के अनुसार गया जिले में 20 मई को निर्धारित पुनर्मतदान और 21 मई को निर्धारित मतगणना का कार्यक्रम संपन्न कराया जाएगा।

रोहतास जिला में मतगणना जारी है। आयोग ने कहा है कि इस अवधि में जमुई, बांका एवं औरंगाबाद जिला में पूर्व में संपन्न चुनाव की मतगणना का कार्यक्रम आयोग को भेजा जाएगा। आयोग ने इस बाबत सभी संबंधित जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया है। दसवें चरण का वोटिंग कलपंचायत चुनाव के दसवें चरण का चुनाव प्रचार सोमवार को समाप्त हो गया। वोटिंग 18 मई को होगी।

दसवें चरण में 24 जिलों के 35 प्रखण्डों में वोट डाले जाएंगे। मुखिया, सरपंच, ग्राम पंचायत सदस्य, पंच, पंचायत समिति सदस्य व जिला परिषद सदस्य के कुल 17753 पदों के लिए 58649 उम्मीदवार मैदान में हैं। मतदान के लिए 8071 बूथ बनाए गए हैं। इधर राज्य निर्वाचन आयोग मतदान की तैयारियों को फाइनल टच देने में जुटा है।

दसवें चरण में भी दस प्रखण्ड नक्सल प्रभावित लिहाजा सुरक्षा व्यवस्था को लेकर संबंधित जिला निर्वाचन पदाधिकारियों व आरक्षी अधीक्षकों को पुख्ता तैयारी के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा मतदान के दौरान गड़बड़ी करने वाले तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई और तत्काल मुकदमा दर्ज कर चार्जशीट फाइल करने को कहा गया है।

इधर प्रचार अभियान समाप्त होते ही चुनाव वाले क्षेत्रों में शराब की बिक्री पर मतदान की समाप्ति तक पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है। मतदान के पहले कराएं एरिया डॉ मिनेशन जमुई में नक्सली वारदात के मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग ने नक्सल प्रभावित जिलों के डीएम व एसपी को नए सिरे से निर्देश जारी किया है।

आयोग ने जमुई, बांका, गया, औरंगाबाद, पूर्वी चंपारण, मुंगेर, रोहतास एवं नवादा के डीएम व एसपी को नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदान के पहले एरिया डॉमिनेशन कराने को कहा है। मतदान के दिन पूरी सतर्कता बरती जाए और मतदानकर्मियों को मतदान केन्द्रों पर साथ भेजा जाए और वापस लाने की व्यवस्था करें।

मतदानकर्मी और सुरक्षा बल मतदान के दिन सुबह एक साथ प्रस्थान करें और एक दूसरे से दूरी बनाते हुए विजुअल डिस्टेंस पर रहें ताकि ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो। जमुई और पूर्वी चंपारण में नक्सली वारदातों का हवाला देते हुए आयोग ने यह आशंका जताई है कि वहां सुरक्षा बलों ने आयोग के निर्देशों का समुचित अनुपालन नहीं किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पांच जिलों में पंचायत चुनाव स्थगित