DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रेटर नोएडा से हापुड़ जाना होगा आसान

ग्रेटर नोएडा हमारे संवाददाता। इस्टर्न पैरिफेरल एक्सप्रेस-वे और 130 मीटर एक्सप्रेस-वे को जोड़े जाने के लिए बनाए जा रहे 60 मीटर एक्सप्रेस-वे का निर्माण जोर-शोर से शुरू कर दिया गया है। जोनसमाना, दुजाना, महावड़, बम्बावड़ गांव में जहां जमीन अभी तक अथॉरिटी के पास नहीं थी, वहां भी अधिग्रहण की प्रक्रिया तेज कर दी गई है।

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी शहर की लाइफ लाइन कहे जाने वाले 130 मीटर एक्सप्रेस-वे से फेज दो इलाके से होकर गुजर रहे ईस्टर्न पैरिफरल एक्सप्रेस-वे को जोड़न के लिए लम्बे समय से प्रयासरत थी। गांव खरपुर और सैनी में जहां जमीनें अधिग्रहण की जा चुकी हैं वहां पिछले महीने निर्माण भी शुरू कर दिया गया है।

दुजाना गांव गाजियाबाद की हाईटेक सिटी योजना के अंतर्गत आता है लिहाजा वहां जमीन अधिग्रहण की जिंम्मेदारी जीडीए को दी गई है। सादोपुर और बादलपुर में भी जमीन अथॉरिटी के पास है। अछेजा में अधिग्रहण की प्रक्रिया जारी है।

जानसमाना और महावड़ बम्बावड़ के जिंन खसरा नंबरों से होकर एक्सप्रेस-वे गुजरेगा वहां हाल ही में धारा-4 घोषित की गई है। इस सड़क के बन जाने से ग्रेटर नोएडा फेज वन व टू के बीच एक नया सम्पर्क मार्ग बनकर तैयार हो जाएगा। एनटीपीसी से लेकर धौलाना तक के लोगों के लिए ग्रेटर नोएडा और नोएडा पहुंचना बेहद आसान हो जाएगा।

उपमुख्य कार्यपालक अधिकारी पीसी गुप्ता के मुताबिक एक्सप्रेस-वे का निर्माण अगले छह माह में पूरा कर लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्रेटर नोएडा से हापुड़ जाना होगा आसान