DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड्डी टूट से लेकर गहरे कटे का सहज इलाज

पटना (हि.ब्यू.)। राज्य सरकार मरीजों के इलाज के लिए अत्याधुनिक तकनीक के इस्तेमाल की योजना पर आगे बढ़ रही है। इसी क्रम में सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने विभाग के सभाकक्ष में लोगों को ‘नैनो वाटर तकनीक’ और ‘बायो मैग्नेटिक पल्सर’ मशीन से रूबरू कराया और जानकारी दी।

इस अवसर पर विशेषज्ञ कमेटी के अध्यक्ष डॉ. बी.एम. हेगड़े और उपाध्यक्ष डॉ. एस.एन. आर्य मौजूद थे। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि वे प्रायोगिक तौर पर इसका प्रयोग पहले एक गांव में करेंगे फिर उसे एक जिला में और अंत में राज्यभर में उपयोग किया जाएगा। डॉ. बी.एम. हेगड़े ने इस तकनीक के संदर्भ में विस्तार से जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि इस तकनीक में अद्भुत वैज्ञानिक शक्ति है। इससे हड्डी टूटने से लेकर, गहरे कटे-फटे, घाव, सूजन, मानसिक बीमारी आदि का सहज इलाज हो सकता है। एक रोगी की कटी अंगुली भी इस तकनीक से वापस पाई जा सकती है। मानव के शरीर में इनर्जी पैटर्न होता है। इसे भली-भांति समझकर मरीजों की चिकित्सा की जा सकती है। शरीर में केमिकल काम्पोजीशन में लूज बांड होते हैं।

यहीं पर नैनो वाटर डालने से मरीजों को तत्काल राहत मिलती है। बायोमैग्नेटिक पल्सर मशीन की कीमत 25 हजार रुपए है। इसका प्रयोग इलाज में बेहतर और सार्थक सिद्ध हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हड्डी टूट से लेकर गहरे कटे का सहज इलाज