DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक ही पंडाल में 51 दूल्हों ने दुल्हनों को डाला

सामूहिक विवाह से जोड़ाें ने शुरू की नई जिंदगी दहेज रहित सामूहिक विवाह में अन्य प्रांतों से भी उमड़े लोग खड़ान गांव में वैदिक ऋचाओं के बीच सम्पन्न हुआ विवाह विधायक धानापुर ने सपत्नी किया कन्यादान, दी जोड़ाें को सौगात हिन्दुस्तान संवाद धानापुर खड़ान गांव में शनिवार को एक अलग उल्लासपूर्ण माहौल था। बाबा प्रसन्नदास के समाधि स्थल पर जहां मंगलगीत महिलाएं गा रही थी। वहीं वैदिक विद्वान वेद की ऋचाओं से पूरे वातावरण को गुंजायमान किये हुए थे। चारों तरफ से घिरे परिसर में ईश्वर को साक्षी मानकर 51 जोड़े सामूहिक विवाह के इस आयोजन में शरीक हुए थे। विवाह की सभी रस्में निभायी जा रही थी। धानापुर विधायक सुशील सिंह ने अपनी पत्नी किरन सिंह के साथ जहां कन्यादान की रस्म निभाई। वहीं इन जोड़ाें को नयी जिंदगी की शुरूआत करने के लिए कुछ भेंट स्वरूप सामान भी सौंपा। परिसर में दूल्हों के सामने जहां दुल्हनें शादी के जोड़ें में बैठी हुई थी। वहीं उनके माता-पिता भी विवाह की रस्मों को पूरा कराने के लिए अपने बच्चों के पीछे बैठे हुए थे। इन सबके बीच में माइक से काशी के विद्वान पंडित मंत्रोच्चार कर रहे थे। रह रहकर शादी की रस्मों में लावा परछायी, कन्यादान और सिंदूरदान का कार्यक्रम भी सम्पन्न कराया गया। लावा परछायी में दुल्हान का भाई उसी उल्लास और उत्साह के साथ गले में गमछा डालकर वर-वधू के हाथ में लावा डाल रहे थे। उधर मंत्र हवा में गूंज रहे थे। सभी रस्में पूरे रीति रिवाज के साथ पूरी की गयी। इस सामूहिक विवाह समारोह में न केवल इस जनपद के बल्कि बिहार और राजस्थान से भी आये हुए जोड़ाें की शादी सम्पन्न हुई। अधिकांश परिवार गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले थे। यहां तक कि शादी के भी मौके पर एक दुल्हे को मउर तो नया आयोजकों ने उपलब्ध करा दिया था। लेकिन उसने जो गमछा मउर बांधने के लिए प्रयोग किया था। वह काफी पुराना था। इससे लोग अनुमान लगा ले रहे थे कि ये गरीब परिवार के लोग हैं। सामूहिक विवाह में जहां किसी भी प्रकार के दहेज का लेन-देन नहीं हुआ। वहीं विधायक सुशील सिंह ने इन नवविवाहित जोड़ाें को आशीर्वाद दिया। साथ ही गृहस्थी के लिए कुछ बर्तन, चारपाई, रजाई-गद्दा, रंगीन टीवी, साड़ी, कपड़ा के साथ ही साइकिल भी प्रदान किया। इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य अजय सिंह, सुशील सिंह जनौली, विजयानन्द, ब्लाक प्रमुख नौगढ़ नीतू सिंह, सुड्ड सिंह, डा. हवलदार सिंह, अवधेश सिंह, प्रेमनाथ दूबे, पुन्नू सिंह, बनवारी पांडेय, अरविंद, अन्नू, रविंद्र सिंह, रामप्रवेश तिवारी, फेकू मौर्या, सुरेंद्र मौर्या, परशुराम गौतम, मोहन बागी, लल्लन घायल, रमेश सिंह, बचाऊ सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक ही पंडाल में 51 दूल्हों ने दुल्हनों को डाला