DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्मो के नवीनीकरण न होने से व्यापारी खफा

वाराणसी कार्यालय संवाददाता। उद्योग निदेशालय में पंजीकृत फर्मो का नवीनीकरण न करने के फरमान से आक्रोशित प्रदेश भर के व्यापारी एकजुट होने लगे हैं। शासन की नई नीति के खिलाफ आंदोलन के लिए पंजीकृत व्यापारियों ने प्रदेशस्तरीय संगठन का गठन भी कर लिया है।

बताते चलें कि सरकारी कार्यालयों में उपयोग किये जाने वाले सामानों की खरीदारी के लिए उद्योग निदेशालय में पंजीकृत फर्मो के नवीनीकरण करने पर प्रदेश सरकार ने रोक लगा दी है। ऐसे में उन पंजीकृत फर्मो के समक्ष रोजी-रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है जिनकी अनुबंध तिथि समाप्त हो चुकी है।

‘हिन्दुस्तान’ ने 15 मई के अंक में ‘सरकारी दफ्तरों के लिए अब सीधे होगी खरीद’ समाचार प्रमुखता से प्रकाशित किया है। नये रेट कांट्रैक्ट पर रोक लगने से व्यथित प्रदेश के व्यापारियों ने ‘फर्नीचर, निर्माता एवं फैब्रीकेटर्स एसोसिएशन’ का गठन कर रजिस्ट्रार ऑफ सोसाइटी के यहां से पंजीकरण भी करा लिया है। नवगठित संगठन का प्रदेश अध्यक्ष कानपुर के सुधांश शुक्ला को बनाया गया है जबकि यहीं के दिनेश चंद्र गुप्ता महामंत्री बनाए गए हैं।

इसके अलावा लखनऊ के गोपाल कृष्ण उपाध्यक्ष, संजीव कत्याल उप मंत्री, कानपुर के सुरेन्द्र कुमार पुरी सचिव, वाराणसी के अजय कुमार गुप्ता संयुक्त मंत्री, कानपुर के प्रदीप कुमार गुप्ता कोषाध्यक्ष, सुनील मदान संगठन मंत्री, नीरज शुक्ला प्रचार मंत्री, संजय पाल तथा फिरोजाबाद के गोविंद कुमार मित्तल सदस्य बनाए गए हैं।

नवनियुक्त अध्यक्ष सुधांश शुक्ला एवं संयुक्त मंत्री अजय कुमार गुप्ता ने बताया कि शासन की नई नीति के खिलाफ शीघ्र ही उपभोक्ता फोरम में याचिका दाखिल किया जाएगा। इसके लिए अधिवक्ताओं से विचार-विमर्श किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फर्मो के नवीनीकरण न होने से व्यापारी खफा