DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अष्टांगशील के साथ कल होगा बुद्ध महोत्सव का आगाज

वाराणसी वरिष्ठ संवाददाता। बुद्ध जयंती के मौके पर 17 व 18 मई को सारनाथ में कई आयोजन होंगे। पहले दिन सुबह अनुष्ठान और शाम को क्षेत्र दीपों व बिजली के झालरों से जगमगाएगा। वहीं, दो दिनों तक मूगंलधकुटि विहार के मुख्य मंच पर शाम 7.30 बजे से स्थानीय समेत लखनऊ व मुंबई के कलाकार भगवान बुद्ध को समर्पित सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश करेंगे।

रविवार को यह जानकारी अपर आयुक्त एसएस आशुतोष व क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी दिनेश कुमार ने दी। बताया कि, नि:शुल्क एंट्री के इस आयोजन में महाबोधि सोसाइटी की ओर से बड़ी संख्या में बौद्ध देशों के पर्यटक शामिल होंगे। अन्य देशी-विदेशी पर्यटकों की हिस्सेदारी के लिए विभागीय वेवसाइट व अन्य माध्यमों से प्रचार-प्रसार हो रहा है।

शाम के कार्यक्रम देखने के इच्छुक लोगों के लिए शहर के कई क्षेत्रों से रोडवेज की बसें सशुल्क उपलब्ध रहेंगी। उप्र पर्यटन के इस कार्यक्रम में जिला प्रशासन, महाबोधि सोसाइटी ऑफ इंडिया तथा केंद्रीय तिब्बती अध्ययन विवि का सहयोग है।

कार्यक्रम-17 मई : सुबह 6 बजे अष्टांगशील एवं बुद्ध पूजा (मूलगंधकुटि विहार), 7 बजे बुद्ध चेतना रैली (धम्मचक्र हाईस्कूल से मूलगंधकुटि विहार), 8.30 बजे सामूहिक बौद्ध पूजा व चीवर दान (मूलगंधकुटि विहार), शाम 6.30 बजे दीपोत्सव (चौखंडी स्तूप से महाबोधि मुख्य मंदिर मार्ग व अन्य स्थान)। धम्म यात्रा रैली। सांस्कृतिक प्रस्तुतियां- नृत्य नाटिका (राष्ट्रीय कथक संस्थान लखनऊ), विजय कपूर (गायन, वाराणसी), रमिंदर खुराना (ओडिसी नृत्य, मुंबई)।

18 मई : सांस्कृतिक प्रस्तुतियां- नृत्य नाटिका (आलोक पांडेय एवं साथी वाराणसी), मालिनी अवस्थी (लोकगायन, लखनऊ), पीसी होम्बल (भरतनाट्यम्, वाराणसी), पल्लवी पांडेय (गायन, वाराणसी)।

सारनाथ के लिए रोडवेज बसें (शाम 6 बजे से) : हर एक घंटे पर कचहरी, कैंट स्टेशन, बेनियाबाग, बीएचयू मेनगेट। सारनाथ से वापसी की अंतिम बस रात्रि 11.30 बजे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अष्टांगशील के साथ कल होगा बुद्ध महोत्सव का आगाज