DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुद्ध पूर्णिमा 17 को, सूर्य का राशि परिवर्तन आज

वाराणसी वरिष्ठ संवाददाता। सूर्य का राशि परिवर्तन 15 मई को होगा। इसी दिन भगवान शिव को प्रसन्न करने का प्रदोष व्रत भी है। 16 तारीख को भगवान श्रीनृसिंह का प्राकट्योत्सव मनाया जाएगा। 17 तारीख को बुद्ध पूर्णिमा पड़ रही है। उसी दिन धर्मराज की आराधना की तिथि भी पड़ रही है।

ज्योतिषी पं. विमल जैन के अनुसार रविवार को सूर्य प्रात: 9.50 बजे मेष राशि से वृष राशि में प्रवेश कर 15 जून को शाम 4.26 बजे तक रहेंगे। इस अवधि को वृष संक्रांति कहते हैं। इसी तिथि में पड़ रहे प्रदोष व्रत के तहत सूर्यास्त के बाद 48 मिनट की अवधि में भगवान शिव तथा माता पार्वती की पूजा दोषों से मुक्ति व खुशहाली की कामना से की जाती है।

उसके बाद नृसिंह प्राकट्योत्सव के दिन अभीष्ट प्राप्ति की कामना से दोपहर को पूजा-अर्चना व दान-पुण्य की मान्यता बतायी गयी है। फिर, बुद्ध पूर्णिमा उदया तिथि के अनुसार 17 को मनायी जाएगी। वैशाख शुक्ल पूर्णिमा यह तिथि एक दिन पहले 16 मई को शाम 7.04 बजे लगेगी। सत्रह तारीख को ही धर्मराज की आराधना की तिथि पर सभी पापों के शमन की कामना करते हुए भगवान की प्रसन्नता के लिए पूजा-अर्चना की जाती है।

आराधना में जल भरा कलश, पकवान अर्पित करने की मान्यता है। साथ ही ब्राह्मण को चीनी व तिल दान देने का विधान बताया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बुद्ध पूर्णिमा 17 को, सूर्य का राशि परिवर्तन आज