DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएमओ हत्याकांड: सुभाष सिंह से एसटीएफ पूछताछ में जुटी

फैजाबाद निज संवाददाता। रंगदारी वसूली और पुलिस पार्टी पर फायरिंग का आरोपी सुभाष सिंह सीएमओ बीपी सिंह हत्याकांड की जाँच के घेरे में आ गया है। कस्टडी रिमाण्ड पर लिए गए सुभाष सिंह से पुलिस लाइन आफिसर्स मेस में एसटीएफ व अन्य जिले की पुलिस पूछताछ कर रही है।

हालांकि कोई भी पुलिस अफसर इसकी पुष्टि नहीं करता। जेएम प्रथम की अनुमति से शनिवार की सुबह उसे 48 घंटे के रिमाण्ड पर लिया गया। उसे लेकर पुलिस टीम इतनी जल्दी टाटा सूमो से निकली कि सुभाष के अधिवक्ता गौतम पांडेय को भी साथ में नहीं लिया, जबकि अदालत से अधिवक्ता को साथ रखने का निर्देश है।

कुमारगंज थानाक्षेत्र में रंगदारी वसूली के मामले में आरोपी सुभाष पर पुलिस पार्टी पर फायरिंग का भी आरोप है। उसी में चार मई को वह आत्मसमर्पण कर जेल गया। शनिवार को असलहा बरामदगी के लिए पुलिस ने दोबारा 48 घंटे का कस्टडी रिमांड लिया। बताते हैं कि फरारी के दौरान सुभाष सिंह गोमतीनगर लखनऊ में रहता था।

एसटीएफ को शक है कि कहीं सीएमओ डॉ. बीपी सिंह की हत्या से सुभाष सिंह का ताल्लुक तो नहीं। इसी को लेकर पुलिस लाइन के आफिसर्स मेस में एसटीएफ व अन्य जिले की पुलिस पूछताछ में लगी है हालाँकि इसकी पुष्टि पुलिस अफसर नहीं कर रहे हैं।

सुभाष के अधिवक्ता गौतम पांडेय का कहना है कि पहली बार भी 10 मई को 23 घंटे का कस्टडी रिमांड जेएम प्रथम ने असलहा बरामदगी के लिए दिया था। उस वक्त भी एसटीएफ व अन्य जिले की पुलिस उसे टार्चर कर कई अन्य मामलों में पूछताछ कर रही थी। कुमारगंज थानाध्यक्ष का कहना है कि असलहा बरामदगी के लिए सुभाष सिंह को 48 घंटे की कस्टडी रिमांड पर लिया गया है। उसके बारे में एसटीएफ से पूछताछ की गलत बयानबाजी की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीएमओ हत्याकांड: सुभाष सिंह से एसटीएफ पूछताछ में जुटी