DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रामगढ़ के ईंट भट्ठा व्यवसायी का अपहरण

रामगढ़। रामगढ़ के युवा ईंट भट्ठा व्यवसायी जोरार निवासी राकेश सिंह का अपहरण कर लिया गया। गुरुवार की रात मोहनियां से रामगढ़ आने के क्रम में उनका अपहरण किया गया। अपहरण का घटनास्थल स्पष्ट नहीं रहने के कारण परिजनों को एफआईआर दर्ज कराने में काफी मशक्कत करनी पड़ी क्योंकि रामगढ़ की पुलिस ने घटनास्थल को सासाराम में बताकर शुरुआती दौर में एफआईआर करने से इनकार कर दिया था।

शुक्रवार को उनकी इंडिका कार सासाराम बस स्टैंड में लावारिस हाल में पड़ी हुई थी, जिसे सासाराम टाउन थाने की पुलिस ने बरामद कर लिया है। सूचना मिलने के बाद अपहृत के परिवार के सदस्यों समेत सैकड़ों लोग रामगढ़ थाने पहुंच गए और व्यवसायी राकेश सिंह के अपहरण की एफआईआर दर्ज करने का अनुरोध किया। लेकिन थाना प्रभारी अमरेंद्र ठाकुर ने यह कहते हुए टाल दिया मेरे थाना क्षेत्र में अपहरण नहीं हुआ है।

रामगढ़ थाने में राकेश सिंह के पिता रमेश सिंह ने बताया कि मोहनियां से घर आने के क्रम में उसने मोबाइल पर सूचना दी थी कि मैं आधे घंटे के अंदर घर पहुंच रहा हूं। लेकिन एक घंटे बाद भी जब राकेश अपने गांव जोरार नहीं पहुंचा तो परिजनों की चिंता बढ़ने लगी। देर होने पर राकेश के मोबाइल पर जब उनके घर वालों ने संपर्क साधना शुरू किया तो मोबाइल का स्विच ऑफ मिला।

रात में ही परिवार वालों ने चारो तरफ खोजबीन की लेकिन कुछ भी पता नहीं चला। शुक्रवार की सुबह से ही अपहृत ईंट व्यवसायी के लिए गंभीरता से खोजबीन शुरू हो गयी और लोग रामगढ़ थाने में एफआईआर दर्ज कराने पहुंच गए। अपहृत द्वारा आधे घंटे के अंदर पहुंचने के फोन के परिजनों के तर्क के बाद अंतत: रामगढ़ पुलिस को एफआईआर दर्ज करने के लिए सहमत होना पड़ा।

रामगढ़ थाना प्रभारी अमरेन्द्र ठाकुर ने कहा कि आवेदन ले लिया गया है और घटना की जांच के बाद एफआईआर दर्ज कर लिया जाएगा। इधर घटना के बाद रामगढ़ के व्यवसायियों में अपहरण को लेकर आक्रोश है और घटना को लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रामगढ़ के ईंट भट्ठा व्यवसायी का अपहरण