DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेन पर चढ़ते समय गिरने से महिला की मौत ट्रेन पर

लालगंज हिन्दुस्तान संवादाता। मां को क्या पता था कि जिस बेटे से वह मिलने जा रही है उससे मिलने से पहले मौत उसे आगोश में ले लेगी। बेटा कानपुर में बैठे-बैठे मां की बाट जोहता रहा। छोटे बेटे ने जब फोन करके पूछा तो पता चला कि मां पहुंची ही नहीं।

इस पर छोटा बेटा मां की तलाश में निकला तो पता चला कि यात्रा की शुरुआत में ही मां हादसे का शिकार हो गयी और जीआरपी ने लावारिस मानकार शव की अंत्येष्टि करा दी। बेटें को मां की अस्थियां तक नसीब नहीं हो सकीं। चार बेटों की मां को न बेटों का कंधा मिला और न मुखाग्नि।

लालगंज क्षेत्र के गोपालपुर गांव की बुचिया देवी (50) पत्नी लक्ष्मण शर्मा अपने बड़े बेटे उमाशंकर से मिलने कानपुर जा रही थी। उसे सुरेमनपुर स्टेशन से ट्रेन पकड़नी थी। बलिया से कोलकाता जा रही सियालदह एक्सप्रेस स्टेशन पर आयी तो बुचिया भूलवश उसमें चढ़ने लगी। इसी बीच ट्रेन चल दी जिससे वह गिर पड़ी और पहियों के नीचे आ गयी।

मौके पर ही उसकी मौत हो गयी। जीआरपी ने लाश की शिनाख्त नहीं होने पर पोस्टमार्टम के बाद शव का अंतिम संस्कार करा दिया। गांव में रहने वाले बुचिया के छोटे बेटे मनमन ने मां का हालचाल लेने के लिए रात में बड़े भाई को फोन किया तो पता चला कि मां वहां पहुंची ही नहीं।

इस पर छोटा बेटा मां की तलाश में निकल पड़ा। सुरेमनपुर स्टेशन पर पता चला कि ट्रेन से गिरकर एक महिला की मौत हो गयी थी। इस पर वह बलिया जीआरपी थाने पहुंचा और फोटो व कपड़े के आधार पर मृतका की शिनाख्त अपनी मां के रूप में की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्रेन पर चढ़ते समय गिरने से महिला की मौत ट्रेन पर