DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बसपा सरकार: चार साल की उपलब्धियां, अब आगे का सफर

लखनऊ, रचना सरन। चार साल पहले प्रदेश में करीब डेढ़ दशक बाद बनी पूर्ण बहुमत की बसपा सरकार शुक्रवार को अपने पांचवें साल में प्रवेश कर जाएगी। बीते चार साल की उपलब्धियों को समेट कर पार्टी शुक्रवार से उस सफर की शुरुआत करेगी जो हर सत्तारूढ़ दल का सपना होता है यानी दोबारा सरकार में लौटना।

सरकार और पार्टी के लिए शुक्रवार से शुरू हो रहा वक्त सरकार की उपलब्धियों का प्रचार-प्रसार कर जनता के बीच खुद को फिर से सरकार चलाने की अव्वल पार्टी के रूप में स्थापित करने और साथ ही विपक्ष के हमले झेलने की चुनौती का दौर भी होगा। क्योंकि यह तय है कि लगातार हमलावर हो रहा विपक्ष सरकार को घेरने और चुनावी वर्ष में परेशान करने की कोई कसर नहीं छोड़ेगा।

वर्ष 2007 में बसपा बेहतर कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर चुनाव जीत कर आई थी। सरकार बनने के बाद ही मुख्यमंत्री मायावती ने कहा था कि कानून-व्यवस्था उनकी सरकार की पहली प्राथमिकता है और इसमें आड़े आने वालों को वह किसी कीमत पर नहीं बख्शेंगी। कानून-व्यवस्था को वह चार साल बाद भी अपनी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता करार देती हैं।

इसी तरह सोशल इंजीनियरिंग के बूते सरकार बनाकर उन्होंने हर नीति को ‘सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय’ पर बनाने की घोषणा की थी। बसपा सरकार के कामकाज में सोशल इंजीनियरिंग मिशन 2012 के लक्ष्य को भेदने में कितना कारगर होगी यह भी पार्टी मुखिया के लिए बड़ी चुनौती होगी।

वहीं विपक्षी दल भी कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर ही सरकार को सबसे ज्यादा घेरने की तैयारी में हैं। किसानों का मुद्दा विपक्ष के तरकश का सबसे नया तीर है।

2000 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण

मुख्यमंत्री मायावती शुक्रवार को अपने सरकार के चार साल पूरे होने पर प्रदेशवासियों को दो हजार करोड़ रुपए की जनकल्याणकारी एवं विकास योजनाओं का तोहफा देंगी। इस मौके पर वह लखनऊ में डा. भीमराव अंबेडकर सभागार में आयोजित भव्य समारोह में प्रदेश सरकार की चार साल की उपलब्धियों पर आधारित एक पुस्तक का विमोचन भी करेंगी।

वह तीन सौ करोड़ की लागत से विभिन्न जिलों में विद्युत उपकेन्द्रों का लोकार्पण करेंगी। बिजली विभाग की करीब 600 करोड़ की अन्य योजनाओं की शुरुआत करेंगी। इस मौके पर मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश जल निगम द्वारा सात शहरों में कराए जा रहे विकास कार्यो से जुड़े करीब तीन सौ करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण करेंगी।

वह लखनऊ में गोमती नगर में बने तीसरे जलकल को जनता को समर्पित करेंगी। प्रदेश के 105 पुलों का निर्माण, बड़ी सड़कों के चौड़ी करण के साथ सड़कों के निर्माण की करीब 550 करोड़ की योजनाओं का वे शिलान्यास करेंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बसपा सरकार: चार साल की उपलब्धियां, अब आगे का सफर