DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार की आह से तबाह हो जाएगा केन्द्र: नीतीश

पटना(हि.ब्यू.)। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार केन्द्र पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि बिहार सूफी-संतों की धरती है। इसके साथ खेल ठीक नहीं है। बिहार की आह निकलेगी तो केन्द्र तबाह हो जाएगा। केन्द्र की नीयत साफ नहीं है। 2010 के जनादेश के बाद से बिहार के प्रति उनका रवैया और खराब हो गया है। यही रवैया रहा तो 2014 के लोकसभा चुनाव में जनता और करारा जवाब देगी।

मुख्यमंत्री सोमवार को जनता दरबार के बाद मीडिया से कोल ब्लॉक और सेंट्रल यूनिवर्सिटी जैसे मसलों पर बात कर रहे थे। केन्द्रीय यूनिवर्सिटी के मुद्दे पर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए उन्होंने कहा कि मोतिहारी गांधी की धरती है और हम केन्द्रीय विश्वविद्यालय वहीं खोलेंगे। हम जिद पर नहीं बल्कि न्याय के साथ खड़े हैं।

आखिर उन्होंने हमारी राय मांगी थी? हमने जगह बतायी तो अब मुकर रहे हैं। केन्द्र के एक मंत्री (सिब्बल) अपनी बात कहके गए अब दूसरे मंत्री(मानव संसाधन राज्यमंत्री) को इस पर बोलने की क्या जरूरत है। उन्होंने अपनी स्थिति साफ करते हुए केन्द्र को आखिरी पत्र लिख डाला है। कोल ब्लॉक के मसले पर उन्होंने कहा कि उनकी मंशा साफ नहीं है। तभी तो लिंकेज की जगह ब्लॉक दिया। माइनिंग का लंबा चक्कर है। कई अड़चन हैं। और अब जब ब्लॉक पर कुछ करने की सोचने लगे तो उसे भी रद्द कर दिया।

उन्होंने कहा कि वह आशावादी हैं और उन्हें पूरी उम्मीद है कि ऐसा समय भी आएगा जब दिल्ली में बिहार के बारे में सोचने वाले भी होंगे। जनता समय पर हिसाब चुकता कर देगी। उन्होंने कहा कि बिहार की धरती में ताकत है तब ही यहां भगवान बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। संतों की धरती के साथ र्दुव्‍यवहार ठीक नहीं है। --

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार की आह से तबाह हो जाएगा केन्द्र: नीतीश