DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जानलेवा बुखार से सात लोगों की मौत

 निज संवाददाता लखनऊ

खदरावासियों के लिए शनिवार काला दिन साबित हुआ। यहाँ के चार मोहल्लों में सात लोगों की बुखार से मौत हो गई है। इसमें तीन युवक हैं। 50 से ज्यादा लोग बुखार और डायरिया की गिरफ्त में हैं। एक साथ सात लोगों की मौत से इलाके में मातम छाया हुआ है। लोग सहमे हैं। कई लोगों ने बुखार पीडिम्तों को अस्पताल में भर्ती कराया। खदरा के शिवनगर मकान नम्बर-42 में रहने वाले राजस्व परिषद के कर्मचारी श्यामलाल (57) का तीन दिनों से बुखार था। पत्नी सुधा ने बताया कि श्यामलाल सुबह हालत बिगड़ गई। अस्पताल के लिए निकल ही रहे थे तभी उनकी मौत हो गई। उनकी तीन बेटियाँ और दो बेटे हैं। यहीं के लोनी कटरा में भुइयन देवी मंदिर के पास रहने वाले राजमस्त्री गणेश (35) भी बुखार से पीडिम्त थे। शाम को उन्होंने भी दम तोड़ दिया। पत्नी मीनू कुमारी ने बताया कि शाम को वह काम से वापस लौटने के बाद तेज बुखार से बदन तप रहा था। हाथ पैरों में ऐंठन महसूस हुई। अस्पताल जाने ही वाले थे कि उनकी मौत हो गई। यहीं के तकिया निवासी गनेसी (40) की भी बुखार से मौत हो गई। खदरा शिवनगर निवासी राजू सिंह (40) तीन दिन से बुखार की गिरफ्त में थे। शनिवार को उन्होंने भी दम तोड़ दिया। पत्नी विजय लक्ष्मी ने बताया कि राजू सदर में प्राइवेट इलेक्ट्रॉनिक की दुकान पर काम करते थे। बुखार और उल्टी-दस्त से पीडिम्त यहीं के मो. नईम (28) ने भी दम तोड़ दिया। पिता अब्दुल वहीद ने बताया नईम गुरुवार को तेज बुखार की चपेट में आए। डेंगू की जाँच कराई लेकिन जाँच में पुष्टि नहीं हुई। इसके बावजूद बुखार कम होने का नाम नहीं ले रहा था। शिवनगर के बाबू लाल मिस्त्री (56) ने भी बुखार की गिरफ्त में आने के बाद दम तोड़ दिया। रामलीला मैदान के पास रहने वाले संदीप निषाद (20) की बुखार से मौत हो गई। पिता मुन्ना निषाद ने बताया कि संदीप कई दिनों से बुखार की चपेट में था। पास की यादव क्लीनिक में उसका इलाज चल रहा था। शनिवार को इंजेक्शन लगाने के बाद उसे दो उल्टी हुईं। डॉक्टर ने उसे चिविवि रेफर कर दिया। अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जानलेवा बुखार से सात लोगों की मौत