DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रमंडल खेलों के विदेशी मेहमानों ने ताज दर्शन को ही

प्रमुख संवाददाता राज्य मुख्यालय समापन की घड़ी भी आ गई और राष्ट्रमण्डल खेलों के मेहमानों को यूपी के पर्यटक स्थलों की सैर करवाने की सारी तैयारी ताज नगरी आगरा से आगे बढ़ ही नहीं पाई। प्रदेश के पर्यटन महकमे ने इन खेलों के दौरान आगरा के साथ-साथ मथुरा, वृंदावन व आसपास के क्षेत्र में सैलानियों की आवभगत की तैयारी पिछले कई महीने पहले ही शुरू कर दी थी। इस लिहाज से मथुरा-वंृदावन के क्षेत्रीय पर्यटन कार्यालय की साज सज्जा की गई थी, वहाँ के होटलों व रेस्त्राँ के स्टाफ के साथ ही ट्रैफिक पुलिस, टैक्सी वालों को भी मेहमाननवाजी के गुर सिखाए गए थे। मगर सारा कुछ आगरा में ही सीमित होकर रह गया। छह अक्टूबर से इंडियन रेलवे कैटरिंग एण्ड टूरिज्म कारपोरेशन (आईआरसीटीसी) की साङोदारी में उ.प्र.पर्यटन विकास निगम ने राष्ट्रमण्डल खेलों में शामिल होने आए खिलाडिम्यों, उनके प्रशिक्षकों व परिवारीजनों को तामजहल व अन्य ऐतिहासिक पर्यटक स्थल घुमाने का सिलसिला शुरू हुआ जो समापन की पूर्वसंध्या तक काफी परवान चढ़ा। आगरा के सहायक निदेशक पर्यटन अनूप श्रीवास्तव के अनुसार बुधवार 13 अक्टूबर को सर्वाधिक 808 मेहमान आए। उन्होंने कहा कि चूँकि विदेशी खिलाड़ी व प्रशिक्षक हाईप्रोफाईल सिक्योरिटी में आते थे इसलिए उन्हें मथुरा वृंदावन घुमाने की योजना पूरी नहीं हो सकी। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसान शताब्दी स्पेशल ट्रेन दिल्ली से इन मेहमानों को लेकर सुबह साढ़े दस बजे आगरा पहुँचती थी और दिन भर इन्हें घुमाने के साथ जेपी होटल में लंच होता था, वहीं पर कुछ सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होते थे। अब गुरूवार व शुक्रवार को यह सिलसिला थमा रहेगा,फिर 16 अक्टूबर राष्ट्रमण्डल खेलों के मेहमानों के आगरा भ्रमण आखिरी दिन होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रमंडल खेलों के विदेशी मेहमानों ने ताज दर्शन को ही