DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लड़ाई अन्याय और अत्याचार के खिलाफ: लालू

सुपौल/मधेपुरा/ पूर्णिया/अररिया । हिन्दुस्तान टीम राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने अपना चुनावी दौरा तेज कर दिया। शुक्रवार को उन्होंने सुपौल, मधेपुरा, अररिया और पूर्णिया में अलग अलग जगहों पर चुनावी सभाएं की।

सभाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने जहां विधानसभा चुनाव को अन्याय, धोखा और अत्याचार के खिलाफ लड़ाई करार दिया वहीं बनमनखी में चीनी मिल चालू नहीं होने का मुद्दा भी उठाया। राजद सुप्रीमो ने नीतीश सरकार पर समाज को बांटने तथा घोटालों में लिप्त रहने का अरोप भी लगाया।

मधेपुरा के रास बिहारी उच्च विद्यालय प्रांगण में लालू प्रसाद ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर कोसी क्षेत्र की जनता ने अंगड़ाई ले ली है। देश के प्राय: सभी राजनीतिक दलों की नजरें भी अब कोसी क्षेत्र में ही केंद्रित हो गयी हैं।

कोसी मैया के आंचल में होने वाले इस चुनाव में आर-पार की लड़ाई होगी। लालू ने कहा कि वे जो बोलते है, करते भी वही हैं। जबकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बोलते कुछ हैं करते कुछ और हैं। तभी तो वे कहते हैं कि ‘कोई ऐसा सगा नहीं, जिसे नीतीश ने ठगा नहीं।’

जनता दल यू और भाजपा के बीच घमासान जारी है। जबकि वे अपना कदम फूंक-फूंक कर रख रहे हैं। बढ़ती मंहगाई के लिए उन्होंने केंद्र की कांग्रेस और बिहार के राजग शासन को कसूरवार ठहराया। सभा की अध्यक्षता पार्टी जिला अध्यक्ष अरविन्द यादव ने की।

सुपौल में राजद प्रत्याशी के समर्थन में आयोजित सभा में लालू ने कहा कि जदयू आरएसएस की गोद में बैठकर सरकार चला रही है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए राजद सुप्रीमो ने कहा कि कांग्रेस को वोट देना एनडीए को वोट देने के समान होगा।

उन्होंने सभा में ऊंची जातियों को साथ लेने का संकल्प लेते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने समाज को खंड-खंड में बांटने का काम किया है और जिसने उन्हें शिखर तक पहुंचाया उसे ही नहीं बख्शा। उन्होंने नीतीश कुमार की सरकार पर 32 हजार करोड़ रुपए के घोटाले में लिप्त रहने का आरोप लगाते हुए इंदिरा आवास, मनरेगा और एपीएल-बीपीएल में भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार बनी तो शिक्षकों को नियमित वेतनमान दिया जाएगा। निर्मली के राघोपुर मवेशी हाट की सभा में लालू प्रसाद ने कहा कि आज जनता की आवाज सुनने वाला कोई नहीं है। थाना से लेकर जिला तक भ्रष्टाचार का बोलबाला है। स्थिति ऐसी है कि मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए भी पैसे देने पड़ते हैं। उनकी सरकारी बनेगी तो भ्रष्टाचार की जांच कराकर गरीबों का पैसा वापस किया जाएगा।

छातापुर की सभा में उन्होंने कहा कि कुसहा तटबंध सरकार की लापरवाही से टूटा है। उन्होंने सरकार को विफल करार देते हुए सरकारी योजनाओं में लूट का आरोप लगाया।पूर्णिया के बनमनखी में राजद प्रत्याशी के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा में लालू प्रसाद ने नीतीश सरकार को सवालों के दायरे में समेटते हुए कहा कि बनमनखी का चीनी मिल क्यों नहीं चालू हुई।

बिहार में क्यों नहीं नये उद्योग लगाए गए? राजद सुप्रीमो ने लोगों को भरोसा दिलाया कि यदि उनकी सरकार बनी तो न केवल कानून व्यवस्था में सुधार होगा बल्कि उद्योग भी लगेंगे। उन्होंने यह याद भी दिलाया कि अपने कार्यकाल में रेलवे को 19 करोड़ का मुनाफा किया था और 55 करोड़ का निवेश किया था।

अररिया के नरपतगंज व रानीगंज की चुनावी सभाओं में लालू ने गरीबों की सरकार बनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि आज गरीबों को कहीं कोई कार्ड नहीं मिल रहा है। एपीएल बीपीएल हो गया तो बीपीएल एपीएल हो गया।

उन्होंने गाय, भैंस व बकरी चराने वालों को आगे बढ़ाया है और यहां के गरीबों की जो ताकत उन्हें मिली है वह आज तक किसी नेता को नहीं मिली है। वे फिर गरीबों की सरकार बनाना चाहते हैं। अब नीतीश की विदाई तय है। उन्होंने कमरतोड़ महंगाई के लिए नीतीश व कांग्रेस की सरकार को जिम्मेवार ठहराया।

उन्होंने वित्त रहित शिक्षा को समाप्त कर वित्तसहित करने और संविदा पर बहाल शिक्षकों को नियमित करने का आश्वासन दिया। उनके साथ राजद के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद राम कृपाल यादव भी थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लड़ाई अन्याय और अत्याचार के खिलाफ: लालू