DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सारण तटबंध टूटा, पांच लाख की आबादी दहशत में

बरौली, गोपालगंज

देवेंद्र नाथ उपाध्याय जिले के बरौली ब्लॉक के सेमरिया गांव के सामने गुरुवार को सारण तटबंध अंतत: टूट ही गया। तटबंध टूटने के बाद गंडक नदी के पानी का दबाव वहां बनाए गए नए बांध पर भी बना हुआ है।

नदी का जलस्तर धीरे-धीरे बढ़ रहा है और वहां ओवरटॉप की स्थिति पैदा हो गई है। दाएं बांध की ऊपरी सतह से पानी मात्र एक-डेढ़ फुट नीचे है। करीब पांच लाख की आबादी दहशत में है। जिले के चार प्रखंडों में बाढ़ का खतरा उत्पन्न हो गया है। सूबे के मुख्य सचिव ने हेलीकॉप्टर से क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण किया।

आपदा प्रबंधन के प्रधान सचिव, विकास आयुक्त, डीएम, एसपी और बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारी बांध पर कैंप कर रहे हैं । अब नए बांध को बचाने का अंतिम प्रयास चल रहा है। बाढ़-कटाव निरोधी कार्य में मजदूरों के साथ ग्रामीण भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। उधर, सारण तटबंध के आसपास करीब पांच सौ मीटर की लंबाई में भीषण कटाव हो रहा है, जिससे स्थिति भयावह हो गई है। प्रशासन ने ग्रामीणों को ऊंचे व सुरक्षित स्थान पर चले जाने का आदेश दिया है और क्षतिग्रस्त स्थल की ओर जाने पर रोक लगा दी है। नदी के रौद्र रूप व तेज करंट को देख सबके होश उड़ गए हैं। गुरुवार की सुबह से रुक-रुक कर झमाझम बारिश हो रही है जिससे मिट्टी का काम कराने में कठिनाई उत्पन्न हो गयी है। जल संसाधान विभाग के कार्यपालक अभियंता आर के जयसवाल ने बताया कि नया बांध सुरक्षित है और उसे लगातार मजबूत किया जा रहा है।

उधर, राहत व बचाव कार्य चलाने को लेकर प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है। दरभंगा, वैशाली, समस्तीपुर और मुजफ्फरपुर से छह मोटरवोट मंगाये गये हैं। दस हजार पॉलीथीन सीट भी उपलब्ध हो गई है। अधिकृत सूत्रों ने बताया कि मधेपुरा और सहरसा से सात ट्रक वाटरप्रूफ टेंट भी बरौली पहुंच रहे हैं, जबकि एनडीआरएफ के जवान बाढ़ से बचाव के लिए तैयार हैं। बांध के टूटने और नए बांध पर दबाव बढ़ने के बाद रुपनछाप, सेमरिया, आलापुर जोकहां सहित आसपास के गांवों में कोहराम मच गया है और पलायन का सिलसिला तेज हो गया है। नदी के जलस्तर में वृद्धि हो रही है, जिससे नदी का पानी तटवर्ती गांवों में पानी घुसने लगा है। सैकड़ों लोग सारण बांध पर शरण लिए हैं। क्षेत्र में खोले गए मेगा शिवरों में लोगों को जाने की सलाह दी जा रही है। निरोधी कार्य चलाने में बारिश बाधा पहुंचा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सारण तटबंध टूटा, पांच लाख की आबादी दहशत में