DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संत अलबर्ट कॉलेज में माइनर ऑडर कार्यक्रम

संवाददाता रांची, संत अलबर्ट कॉलेज में थियोलॉजी कोर्स के अंतर्गत सेकेंड ईयर और थर्ड ईयर के सेमेनेरियंस को ईशवचन पढ़ने व पूजा में सहयोग करने का अधिकार दिया जाएगा। अधिकार देने की धर्मविधि 16 सितंबर को सुबह छह बजे संत अलबर्ट कॉलेज में आयोजित की गई है।

अधिकार की धर्मविधि आर्चडायसिस के धर्माध्यक्ष कार्डिनल तेलस्फोर पी टोप्पो संपन्न करायेंगे। इसमें सेकेंड ईयर के 40 छात्रों को ईशवचन पढ़ने और उसकी घोषणा का अधिकार और थर्ड ईयर के 33 छात्रों को पूजन विधि में सहयोग करने व पवित्रपरम प्रसाद वितरण का अधिकार मिलेगा।

थियोलॉजी के प्रोफेसर फादर लुकस तिर्की ने बताया कि थियोलॉजी के चार साल के कोर्स के दौरान पहले साल डीकन व पुरोहिताई में आगे बढ़ने की अनुमति दी जाती है। उनके लिए यह कार्यक्रम अगले वर्ष मार्च महीने में होगा। सेकेंड ईयर के लिए ईश वचन पढ़ने और उसकी घोषणा करने का अधिकार दिया जाता है, जबकि तृतीय वर्ष में पूजन विधि में मदद करने और पवित्र परमप्रसाद वितरण करने का अधिकार दिया जाता है। अंत में नवंबर महीने में फोर्थ ईयर की पढ़ाई समाप्त होने पर छात्रों को आध्यात्मिक साधना के लिए भेजा जाता है।

इस वर्ष यह आध्यात्मिक साधना दिसंबर महीने के पहले सप्ताह में विलासपुर में होगी। इसके पश्चात छात्र अपने-अपने डायसिस में जाते हैं, जहां धर्माध्यक्ष उनका उपयाजक अभिषेक करते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संत अलबर्ट कॉलेज में माइनर ऑडर कार्यक्रम