DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भीषण अगलगी में झोपड़पट्टी राख चपेट में आने से बाल-बाल बची

वरीय संवाददातापटना। हवाई अड्डा थाना क्षेत्र में चितकोहरा पुल से सटे कौशलनगर मोहल्ला में हुई भीषण अगलगी में एक झोपड़पट्टी राख के ढेर में तब्दील हो गई। पल भर में आंखों के सामने सैकड़ाें गरीबों का आशियाना खाक हो गया। बुधवार की सुबह करीब सवा 10 बजे झोपड़पट्टी के पश्चिमी कोना स्थित एक झोपड़ी में बच्चाी खाना बना रही थी। सब्जी छौंकने के दौरान अचानक झोपडी में आग लगी फिर देखते ही देखते करीब 50 झोपडिम्यां धू-धू कर जलने लगी। वहां रह रहे लोग किसी तरह जान बचा कर इधर-उधर भागे जबकि तीन बकरियों के अलावा रिक्शा, ठेला, साइकिल, बर्तन, पलंग, टेबुल, राशन समेत 25 लाख से ज्यादा की संपत्ति बर्बाद हो गई। आग की लपटें इतनी ऊंची और तेज थी कि आसपास करीब 60-70 मीटर के एरिया में 30-40 मीटर उंचे पेड़ तक झुलस गये। सूचना मिलते ही पटना और कंकडबाग फॉयर स्टेशनों से चार यूनिट दमकल दस्ते ने मौके पर पहुंच कर दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। तब तक शंभु पासवान, योगेश्वर पासवान, रंजीत पासवान, राजकुमार सहनी, रवीन्द्र पंडित, राजू यादव, मो. तस्लीम, गौरी साव, सोनू रजक, नवल राम, विनोद कुमार, केदार प्रसाद, सुभाष प्रसाद, अमित कुमार, पप्पू, अशोक चंद्रवंशी, मो. रहीमतुल्ला, सरफुद्दीन, मो. शोयेब, मो. हबीब, राधेश्याम पंडित व अन्य गरीबों का आशियाना से लेकर खाना-पीना, कपड़ा आदि आंखों के सामने प्रचंड आग की भेंट चढ गये। झोपड़पट्टी रेलवे लाइन से सटे स्थित है। प्रत्यक्षदर्शियों द्वारिका साव और पप्पू राम ने बताया कि घटना के समय पटरी से गुजर रही एक ट्रेन के ड्राइवर ने किसी तरह स्पीड बढ़ा कर उसे निकाल लिया हालांकि अनहोनी हो सकती थी। रेलवे लाइन के आसपास स्थित शीशम के उंचे पेड़ के पत्ते भी आग की लपटों से काले पड़ गये थे। मौके पर मौजूद फॉयर अफसर सुनील कुमार गुप्ता ने बताया कि प्रथम दृष्टया खाना बनाने के दौरान आग लगने की बात सामने आई है। वैसे जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भीषण अगलगी में झोपड़पट्टी राख चपेट में आने से बाल-बाल बची