DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जन्म के 48 घंटे बाद पता लग जाएगा एक सौ

अजय कुमार सिंहपटना। यदि प्लान करके मां-बांप बन रहे हैं तो आप चाहेंगे कि आपका लाडला या लाडली स्वस्थ रहे और उसे भविष्य में कोई बीमारी नहीं हो। अब नवजात के सिर्फ मूत्र से एक सौ से अधिक बीमारियोंका पता चल जायेगा। इसके लिए नवजात के साथ कुछ छेड़छाड़ करने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। इस जांच के लिए बच्चों का खून आदि नहीं निकालना पड़ता। नवजात बच्चों के जन्म के 48 घंटे बाद उसके पेशाब से एक सौ से अधिक बीमारियों का पता लग सकता है। इसमें कई महत्वपूर्ण बीमारिया हैं। इससे हार्ट, किडनी, लंग, मानसिक और शारीरिक आदि बीमारियों के साथ-साथ जन्मजात बीमारियों का भी पता किया जा सकता है। बच्चों को कुछ बीमारी मां-बांप (जेनेटिक) से लगती हैं। संभव है कि जन्म के समय सामान्य दिखने वाले बच्चों में चार-पांच साल बाद बीमारी उभर कर सामने आने लगती है। तब वह बीमारी गंभीर स्थिति में पहुंच चुकी हुई होती है। यदि इसका पता जन्म के तुरंत बाद लगा लिया जाय तो बीमारी को बढ़ने से रोका जा सकता है या फिर उसका इलाज भी किया जा सकता है। इन सारी बीमारियों का पता लगाने क लिए ‘प्रिवेंटिव न्यू बार्न स्क्रीनिंग टेस्ट’(पीएनबीएस) किया जाता है। इसके लिए विशेष तरह का किट दिया जाता है। कुछ बच्चों में ‘इन्जाइम डिसआर्डर’ होता है। यानी खाना खाया या दूध पीया तो फायदा करने बजाय बच्चों को नुकसान पहुंचाने लगता है और बच्चाा बीमार रहने लगता है। बच्चाा यदि जन्मजात डायबेटिक है तो इसका भी पता इस जांच से पता चल जाएगा। यह जांच दिल्ली, कोलकाता और मुंबई आदि शहरों में फिलहाल उपलब्ध है। विदेशों में यह जांच पहले से हो रही है। बिहार में यह जांच अभी भी उपलब्ध नहीं है। देश में एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने यह जांच शुरु की है। कंपनी के अनुसार देश में प्रत्येक 47 सेंकंड में एक बच्चाा जेनेटिक डिसआर्डर के साथ पैदा होता है। कंपनी ने राजधानी के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. अरुण कुमार ठाकुर को रिसर्च इनवेस्टीगेटर के लिए आग्रह किया है।‘जन्म के 48 घंटे बाद बच्चों के पेशाब से एक सौ से अधिक बीमारियों का पता चल जाना बड़ी बात है। समय रहते बच्चों को पीएनबीएस जांच से कई जटिल बीमारियों से बचाया जा सकता है। जन्म के समय सामान्य दिखने वाले बच्चों में कुछ बीमारी चार-पांच साल बाद दिखने लगती।’डॉ. अरुण कुमार ठाकुरशिशु रोग विशेषज्ञ, एनएमसीएच

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जन्म के 48 घंटे बाद पता लग जाएगा एक सौ