DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपसी प्रतिद्वंद्विता से भड़क रहा माहौल कोचिंग संचालकों में लगी है

िहन्दुस्तान प्रितिनिधपटना। कोिचंग संचालकों की आपसी प्रितद्विंद्वता से भी छात्रों के बीच असंतोष का माहौल पनपा है। एक-दूसरे आगे िनकलने की होड़ में कोिचंग संस्थान अपने भंवरजाल में छात्रों को फंसाते हैं। जब कोर्स पूरा करने में वे सफल नहीं हो पाते तो वे वे दूसरे संस्थानों में भी इस प्रकार की िस्थित का भ्रम फैलाना शुरू करते हैं। किसी छात्र द्वारा िवरोध करने पर उनके साथ मारपीट होती है। इस संबंध में छात्रों का कहना है कि हमलोगों को तो मोहरा बनाया जाता है।पुिलस पदािधकािरयों ने बताया कि मंगलवार को कई कोिचंग संस्थानों के भीतर से रोड़ेबाजी हो रही थी। इससे पता चलता है कि मामले को भड़काने का प्रयास किया जा रहा था। इस पूरे मामले को प्रशासन गंभीरता से ले रहा है। मानव संसाधन िवकास िवभाग ने बुधवार को हुई समीक्षा बैठक में माना कि कुकुरमुत्ते की तरह उग आए कोिचंग संस्थान अपने आप को बेहतर बताकर छात्रों का एडिमशन तो ले लेते हैं लेकिन उन्हें उिचत सुिवधा नहीं दी जाती है। छात्र जब इसका िवरोध करते हैं तो दूसरे कोिचंग वाले उस आग में घी डालने का कार्य करते हैं। इसको लेकर िवभाग ने एक कानून को अमली जाता पहनाने की कवायद शुरू कर दी है। मानव संसाधन िवभाग का उच्च िशक्षा िवभाग इसको लेकर कड़े कानून बनाने की प्रक्रिया को अिंतम रूप देने में जुट गया है। बुधवार की शाम को सभी पदािधकािरयों को िवभाग में ही रोक िलया गया। जो कर्मचारी घर चले गए थे उनको वापस बुलाया गया। देर शाम तक अिधिनयम को अिंतम रूप देने की तैयारी होती रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आपसी प्रतिद्वंद्विता से भड़क रहा माहौल कोचिंग संचालकों में लगी है