DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षा चौपट कर कोचिंग की राह आसान की सरकार ने

पटना(हि. ब्यू.)। राजद ने आरोप लगाया है कि सरकार की मिलीागत से राजधानी में चल रहे हैं हजारों फर्जी कोचिंग संस्थान। शिक्षा चौपट कर सरकार ने उनके फलने-फूलने की व्यवस्था की है। छात्र सड़क पर उतरे तो सरकार की नींद खुली। वह भी एक छात्र की मौत के बाद। पहले तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह कहकर टाल दिया कि ‘बिहार में यह सब चलता है’। सरकार को मृत छात्र सचिन शर्मा के खून का हिसाब देना होगा। पार्टी ने मांग की है कि गुंडों के संरक्षण में चल रहे संस्थानों के मालिक गिरफ्तार हों और वसूले गये नजायज रकम छात्रों को वापस किये जाएं। पार्टी कार्यालय में बुधवार को प्रेस को संबोधित करते हुए प्रधान महासचिव रामकृपाल यादव, प्रवक्ता शकील अहमद खां और पूर्व विधान पार्षद रामबदन राय ने कहा कि इंटर की पढ़ाई की स्कूलों में हुई। लेकिन जमा दो स्कूलों में न तो शिक्षक दिये गये न ही संरचनात्मक सुविधाएं बढ़ाई गईं। नतीजा यह है कि छात्र नामांकन तो स्कूलों में करा लेते हैं लेकिन पढ़ाई पूरी करने के लिए उन्हें कोचिंग में जाना पड़ता है जहां उनका शोषण होता है। कॅलेजों में भी 5500 शिक्षकों के पद रिक्त हैं। जो हैं उन्हें भी वेतन नहीं मिलता। सामुदायिक भवन में मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज खोले गये हैं। प्रधान महासचिव ने आरोप लगाया कि पहले दिन के आंदोलन के बाद रात में राजधानी के सभी लॉजों में घुसकर पुलिस ने छात्रों की पिटाई की। नतीजा दूसरे दिन भी छात्र सड़क पर उतर आये। पार्टी प्रवक्ता ने मंत्री के घर से वकीलों की गिरफ्तारी को भी गंभीर बताया। उन्होंने मांग की कि सरकार के सभी मंत्री शपथ ग्रहण के पहले और आज की अपनी आर्थिक स्थिति का खुलासा करें। इसकी जांच स्वतंत्र एजेन्सी से हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिक्षा चौपट कर कोचिंग की राह आसान की सरकार ने