DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देश की खबरें-1

बिहार में कोचिंग संस्थानों पर लगाम कसेगा कानूनइंट्रो--पटना में छात्रों के प्रदर्शन के बाद सरकार ने दिया जल्द ही नया कानून लाने का भरोसाकोट----आज कई ऐसे कोचिंग संस्थान हैं जो छात्रों के नामांकन के समय कहते कुछ और हैं और करते कुछ हैं। यद्यपि छात्रों का विरोध का रवैया सही नहीं है। आनंद कुमार, ‘सुपर थर्टी’ के संचालक पटना (आईएएनएस)। राजधानी पटना में कोचिंग संस्थानों की कथित मनमानी के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन बुधवार को भी जारी रहा। राज्य के शिक्षा मंत्री हरिनारायण सिंह ने कहा कि कोचिंग संस्थानों पर लगाम कसने के लिए राज्य सरकार जल्द ही नया कानून बनाएगी।सिंह ने कहा, ‘सरकार जल्द ही कोचिंग संचालकों पर लगाम कसने के लिए नियमावली बनाएगी। पटना में कई ऐसे कोचिंग संस्थान हैं जहां छात्रों का शोषण किया जा रहा है। शिक्षा विभाग छात्रों का शोषण नहीं होने देगी।’ छात्रों द्वारा उठाए गए मुद्दे का कई लोगों ने समर्थन किया है लेकिन वे उनके विरोध के तरीके को जायज नहीं ठहरा रहे हैं। पटना के प्रसिद्ध कोचिंग संस्थान ‘सुपर थर्टी’ के संचालक आनंद कुमार ने कहा कि इस स्थिति में छात्रों को धकेलने के लिए कोचिंग माफिया जिम्मेदार हैं। उन्होंने माना कि आज कई ऐसे कोचिंग संस्थान हैं जो छात्रों के नामांकन के समय कहते कुछ और हैं और करते कुछ हैं। यद्यपि उन्होंने कहा कि छात्रों का विरोध का रवैया सही नहीं है। आनंद ने कहा, ‘सुपर थर्टी में तो कोई भी छात्र विरोध करने नहीं आया। यह इस बात को साबित करता है कि छात्र सिर्फ उन्हीं कोचिंग संस्थानों के विरोध में हैं जो उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।’ पटना विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति (प्रो-वाइसचांसलर) एस़ आई़ हसन ने कहा कि पटना में कोचिंग एक कारोबार सा बन गया है। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थानों में पढ़ाई ठीक ढंग से नहीं होने के कारण छात्र कोचिंग संस्थानों में जाते हैं।हसन ने कहा, ‘पटना में कई कोचिंग संस्थानों में छात्रों का आर्थिक दोहन होता है। छात्रों का विरोध जायज है लेकिन उनके रवैये से पूरा शहर दहशत में आ गया है जो उचित नहीं है।’ बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष क़े पी़ यादव ने कहा, ‘मेरे ख्याल से सरकार को कोचिंग संस्थानों के लिए कोई नीति बनानी चाहिए। छात्रों को भी कोचिंग में नामांकन लेने के पहले जांच पड़ताल कर लेनी की बात कही।’ऐश के लिए अंडाणु बेच रही हैं युवतियांइंट्रो----------दिल्ली में छात्राओं और अकेली कामकाजी महिलाओं ने जल्द से जल्द पैसा कमाने का नया तरीका निकालालालचप्रजनन क्लीनिकों को अंडाणु बेचने के एवज में लेती हैं 20 से 50 हजार रुपयेलड़कियों के पैसे कमाने के इस तरीके की मां-बाप को नहीं होती है जानकारीनई दिल्ली (आईएएनएस)। कॉलेज जाने वाली दिल्ली की छात्राएं और अकेली कामकाजी युवतियां त्वरित तरीके से धन कमाने के लिए अपने अंडाणुओं का सौदा कर रही हैं। ये छात्राएं और युवतियां अपने अंडाणु प्रजनन क्लीनिकों में बेचती हैं, जिनके बदले उन्हें अच्छी-खासी रकम मिल जाती है। प्रजनन क्लीनिक इन अंडाणुओं को नि:संतान जोड़ाें को बेच देते हैं।दिल्ली के प्रजनन विशेषज्ञों को कॉलेज जाने वाली छात्राओं और अकेली कामकाजी युवतियांे की ओर से अंडाणुओं देने के लिए लगातार निवेदन मिलता रहता है। प्रत्येक लड़की के शरीर से 10 से 12 अंडाणु लिए जाते हैं और इसके बदले उन्हें 20,000 से 50,000 रुपये तक की राशि मिल जाती है। ग्रेटर कैलाश स्थित फिनिक्स अस्पताल की स्त्री रोग विशेषज्ञ शिवानी सचदेवा गौड़ ने बताया, ‘यह एक नया चलन है। काफी संख्या में युवतियां अंडाणु देने यहां आती हैं। जनवरी के पहले हफ्ते में दिल्ली विश्वविद्यालय के एक प्रतिष्ठित कॉलेज की चार छात्राओं ने अंडाणु दिए। विलासितापूर्ण जीवनयापन के लिए ये लड़कियां अपने अंडाणुओं का सौदा कर रही हैं।’पश्चिमी दिल्ली के बी.एल. कपूर मेमोरियल अस्पताल की चिकित्सक इंदिरा गणेशन ने बताया कि 22 से 25 वर्ष की युवतियां अंडाणु देने के लिए आया करती हैं। इनमें ज्यादातर अकेली या फिर कामकाजी होती हैं। अंडाणु देने का मुख्य मकसद पैसा हासिल करना है। शिवानी बताती है कि अंडाणु देने वाली अधिकांश लड़कियों के माता-पिता को इस बात की जानकारी नहीं होती। शिवानी के मुताबिक फिनिक्स अस्पताल में दुनिया भर से प्रतिमाह 15 नि:संतान जोड़े अंडाणुओं की मांग करते हैं। बकौल शिवानी, ‘अधिकांश जोड़े विदेशी होते हैं और इसके लिए वे साठ हजार से एक लाख रुपये तक खर्च करने के लिए तैयार होते हैं। हमें ब्रिटेन, अमेरिका और आस्ट्रेलिया से अंडाणुओं का निवेदन प्राप्त होता है। भारत से भी हमें कुछ निवेदन मिलते हैं।’डीएमके के साथ संबंध मजबूत : कांग्रेसनई दिल्ली (आईएएनएस)। कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि डीएमके के साथ गंठबंधन को लेकर पार्टी में कोई हिचकिचाहट नहीं है और इस बात की कोई संभावना नहीं है कि तमिलनाडु में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी एआईएडीएमके के साथ गठबंधन करेगी।कांग्रेस प्रवक्ता शकील अहमद ने बताया, ‘हमारा गठबंधन (डीएमके के साथ) मजबूत है। गठबंधन जारी रहेगा और दोनों पार्टियों के बीच कोई गलतफहमी नहीं है।’ उन्होंने जोर दिया कि डीएमके संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन का हिस्सा है। एआईएडीएमके की नेता जे. जयललिता ने एक साक्षात्कार में यह कहा था कि तमिलनाडु के लोग डीएमके और कांग्रेस नेतृत्व द्वारा लिए जाने वाले किसी फैसले को लेकर बहुत अधीर हैं। इसके बाद ही कांग्रेस और डीएमके गठबंधन के भविष्य के बारे में अटकलें लगनी शुरू हो गईं।गोवा के स्वास्थ्य मंत्री से मिलने गए थे बाघ शिकारियों के परिजनपणजी (आईएएनएस)। दो महीने पहले एक बाघ के कथित शिकार के मामले में मामला दर्ज होने के बाद दो शिकारियों के परिजन गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे से मिलने पहुंचे। यहां से करीब 60 किलोमीटर दूर उत्तरी गोवा के महादी वन्यजीव अभ्यारण्य में बाघ का शिकार हुआ था। न्यूज एजेंसी को गोवा के मुख्य वन संरक्षक सुशील कुमार के कार्यालय के सूत्रों से जांच के गोपनीय दस्तावेज प्राप्त हुए हैं, जिसमें बताया गया है कि कैसे बाघ का शिकार किया गया? साथ ही इसका भी जिक्र है कि अभियुक्त गोपाल, नागेश माजिक और उनके परिजनों ने बहुत सफाई से सबूत नष्ट कर दिए। वन विभाग को दिए बयान में मृत बाघ का चित्र लेने वाले अंकुश माजिक ने कहा कि पणजी के रास्ते उन लोगों ने ‘बाबा’ (स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे) से मिलने के बारे में सोचा था, लेकिन वह अपने घर पर नहीं थे। इसलिए वे लोग पुराने गोवा लौट गए। स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे, गोवा विधानसभा अध्यक्ष प्रताप सिंह राणे के पुत्र हैं। वह पोरीम में रहते हैं, इसी विधानसभा क्षेत्र में बाघ का शिकार हुआ था। माजिक ने अपने बयान में कहा, ‘नजदीक पहुंचने पर मैंने देखा कि बाघ मर चुका था। उसके बिजली के तार की चपेट में आने से वहां बदबू आ रही थी और उसके पेट पर मक्खियां घिर आईं थी।’ वहीं माजिक ने पुलिस को दूसरा बयान दिया, जिसे मुकदमे की सुनवाई के दौरान शामिल नहीं किया जाएगा।मामले की जांच पर सुशील कुमार ने कुछ बोलने से मना कर दिया, जबकि स्वास्थ्य मंत्री राणे प्रतिक्रिया के लिए उपलब्ध नहीं हुए। मामले की जांच को लेकर वन विभाग के उच्च अधिकारियों की पहले ही काफी आलोचना हो चुकी है। इस मामले का खुलासा नामी वन्यजीव कार्यकर्ता राजेंद्र केरकार ने किया था। हिमपात के कारण जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पांचवे दिन भी बंद जम्मू/श्रीनगर (आईएएनएस)। जम्मू और श्रीनगर के बीच का एकमात्र सड़क संपर्क 294 किलोमीटर लंबा जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग लगातार हो रहे हिमपात और भूस्खलन के कारण बुधवार को पांचवे दिन भी बंद रहा।परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राजमार्ग की देख-रेख करने वाला सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) मार्ग पर वाहनों की आवाजाही दोबारा शुरू करने के लिए काफी प्रयास कर रहा है लेकिन खराब मौसम के चलते इसमें दिक्कतें आ रही हैं। अधिकारी ने कहा कि रामबन के नजदीक पंथाल क्षेत्र में लगातार भूस्खलन होने से सड़क पर वाहनों के आवागमन की सलाह नहीं दी जा रही है। पिछले चार दिनों से राजमार्ग पर करीब 350 ट्रक और कुछ यात्राी वाहन फंसे हैं लेकिन इन सभी को रामबन और ऊधमपुर के सुरक्षित स्थानों पर खड़ा कर दिया गया है।हिमाचल में हिमपात के बाद खिली धूप शिमला (आईएएनएस)। हिमाचल प्रदेश में चार दिनों के भारी हिमपात और बारिश के बाद बुधवार को धूप खिली। जबकि तापमान कई डिग्री नीचे लुढ़क गया। मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया, ‘ऊपरी इलाकों में पिछले चार दिन से हो रहे भारी हिमपात के बाद लगभग पूरे राज्य में बुधवार को धूप खिली।’उन्होंने बताया कि सर्द हवाएं चलने की वजह तापमान में बड़े पैमाने पर गिरावट आई है। शिमला में मंगलवार के न्यूनतम तापमान 3.6 डिग्री सेल्सियस की तुलना में बुधवार को न्यूनतम तापमान 0.3 डिग्री दर्ज किया गया। लाहौल एवं स्पीति जिले के केलांग में तापमान शून्य से 12.8 डिग्री नीचे रहा। किन्नौर के कालपा में तापमान शून्य से 11 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।उन्होंने बताया, ‘केलांग और कालपा में क्रमश: 10 सेंटीमीटर और 7.3 सेंटीमीटर बर्फ गिरी।’ कुल्लू जिले के भुंतर में दिन का तापमान एक डिग्री रहा और कांगड़ा जिले के धर्मशाला में तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सिंह ने बताया कि इसके अलावा पश्चिमी विक्षोब की वजह से पूरे राज्य में आगामी गुरुवार और शुक्रवार को भारी हिमपात और बारिश हो सकती है।गुजरात में मंत्री पर घूसखोरी का आरोपगांधीनगर (आईएएनएस)। कांग्रेस के एक नेता ने गुजरात के गृह राज्य मंत्री अमित शाह पर शेयर बाजार घोटाले के आरोपी केतन पारिख से 2.5 करोड़ रुपये घूस लेने का आरोप लगाया है।राज्य में पूर्व नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस नेता अर्जुन मोडवाडिया ने मंगलवार को कहा कि शाह को तत्काल पद से हटाकर मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दी जानी चाहिए। उन्होंने इस मामले से जुड़ी एक जांच रिपोर्ट भी जारी की जो वर्ष 2005 में राज्य के तत्कालीन मुख्य सचिव सुधीर मांकड़ को सौंपी गई थी। उल्लेखनीय है कि मशहूर शेयर दलाल पारिख माधवपुरा वाणिज्यिक सहकारी बैंक घोटाले का भी आरोपी है।नक्सलियों से लड़ने के लिए उड़ीसा को मिलेंगे और केंद्रीय बलभुवनेश्वर (आईएएनएस)। उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि नक्सलियों से मुकाबले के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की तीन और बटालियनें राज्य को मिलेगी।पटनायक ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा, ‘केंद्रीय गृह मंत्री पी. चिदम्बरम ने हमें अर्धसैनिक बलों की तीन और बटालियन मुहैया कराने का भरोसा दिया है।’ कोलकाता में मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन से लौटने के बाद पटनायक ने कहा, ‘नक्सली हिंसा में विश्वास करते हैं और वे हिंसा छोड़ने को तैयार नहीं हैं। हमें उनसे बलपूर्वक निपटना होगा।’ह्यूम के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल करेगी चेन्नई पुलिस चेन्नई (आईएएनएस)। चेन्नई पुलिस अगले 15 दिनों के भीतर यौन अपराधों के आरोपी डच नागरिक विलियम ह्यूम के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल करेगी। शहर के पुलिस आयुक्त टी. राजेंद्रन ने मंगलवार को कहा कि दो सप्ताह के अंदर ह्यूमके खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया जाएगा। ह्यूम की गिरफ्तारी के 80 दिनों बाद भी पुलिस आरोप पत्र दाखिल नहीं कर पाई थी जिस वजह से एक स्थानीय अदालत ने उसे जमानत दे दी। बाल यौन अपराधों के मामले में ह्यूम के खिलाफ बीते नवंबर में इंटरपोल की ओर से अलर्ट जारी किया गया था। वह भारत में बीते 30 वर्षो से रह रहा था।कछुओं की तस्करी के आरोप में 2 गिरफ्तारलखनऊ (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में पुलिस ने वन्य जीवों की तस्करी के आरोपी दो व्यक्तियों को 40 कछुओं के साथ गिरफ्तार किया है।जिले के नसीराबाद थाना प्रभारी शिवशंकर गुप्ता ने बुधवार को संवाददाताओं को बताया कि सूचना के आधार पर मंगलवार रात को पुराने पुल के समीप दो तस्करों को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से 40 कछुए बरामद किए गए। उन्होंने कहा कि कछुओं की बरामदगी के बारे वन विभाग को सूचित कर दिया गया है। गुप्ता के मुताबिक दोनांे आरोपी पिछले पांच साल से तस्करी में लिप्त थे और पश्चिम बंगाल व बिहार में कछुओं की तस्करी करने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह के लिए काम करते थे। दोनों से पूछताछ में महत्वपूर्ण जानकारियां हाथ लगी है।सुषमा ने की फोंसेका की रिहाई की मांगनई दिल्ली (आईएएनएस)। लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने श्रीलंका के राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे से पूर्व सेना प्रमुख जनरल सरथ फोंसेका को तत्काल रिहा किए जाने की मांग की है। हाल में संपन्न राष्ट्रपति पद के चुनाव में फोंसेका मुख्य विपक्षी उम्मीदवार थे।सुषमा ने बुधवार को बयान जारी कर कहा, ‘फोंसेका को गिरफ्तार किए जाने की जो खबरें आई हैं वह परेशान करने वाली हैं। विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश होने के नाते हम इसका अनुमोदन नहीं कर सकते, वह भी तब, जब हमारे पड़ाेस के देश में ऐसा हो।’ उन्होंने कहा, ‘हम राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे से मांग करते हैं वह फोंसेका की सुरक्षा सुनिश्चित करें। हमारा उनसे आग्रह है कि वह उन्हें तत्काल रिहा करें।’मप्र में पूर्व विधायक की हत्यादमोह (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के दमोह जिले में भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक मणिशंकर सुमन की हत्या कर दी गई है। हत्या का आरोप सुमन के भाई पर है जिसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।पुलिस के अनुसार कोतवाली थाना क्षेत्र में रहने वाले पूर्व विधायक सुमन का अपने भाई प्रेम शंकर से मंगलवार की रात को किसी बात पर विवाद हो गया, विवाद इतना बढ़ गया कि प्रेम शंकर ने कथित तौर पर उन पर लोहे की राड से कई प्रहार कर दिए, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।दमोह के पुलिस अधीक्षक दिलीप आर्य ने बुधवार को आईएएनएस को बताया कि मामला दर्ज कर आरोपी प्रेमशंकर को पुलिस ने देर रात हिरासत में ले लिया। हत्या की वजह पारिवारिक विवाद बताई जा रही है। सुमन वर्ष 1990 में दमोह के पथरिया विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए थे।चण्डीगढ़ के होटलों में लगेंगे सीसीटीवी कैमरेचण्डीगढ़ (आईएएनएस)। चण्डीगढ़ प्रशासन ने सुरक्षा को चाक-चौबंद करने के लिए होटल, रेस्तरां और मल्टीप्लेक्स मालिकों से सीसीटीवी कैमरे लगाने को कहा है।प्रशासन के एक प्रवक्ता ने बुधवार को बताया, ‘जिला अधिकारी ने होटल, रेस्तरां, गेस्ट हाउस, सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स मालिकों को सीसीटीवी कैमरे स्थापित करने का आदेश दिया है। इन कैमरों के दायरे में प्रवेश, बहिर्गमन, स्वागत कक्ष और पार्किंग आनी चाहिए।’ प्रवक्ता ने कहा, ‘हाल के आतंकवादी हमलों और खुफिया जानकारियों को देखते हुए इन स्थानों पर विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है। यह आदेश बुधवार से लागू हो गया।’सड़क हादसे में 5 तीर्थयात्रियों की मौतलखनऊ (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में बुधवार को एक बस के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से उसमें सवार पांच तीर्थयात्रियों की मौत हो गई जबकि 15 घायल हो गए। यह हादसा रायबरेली के डलमऊ इलाके में उस समय हुआ जब करीब 50 तीर्थयात्रियों से भरी बस अनियंत्रित होकर खड्ड में पलट गई।जिले के पुलिस प्रमुख शालिक राम ने वहां संवाददाताओं को बताया कि हादसे में पांच तीर्थयात्रियों की मौके पर मौत हो गई जबकि 15 घायल हो गए। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां कुछ की हालत नाजुक बनी हुई है। उन्होंने बताया कि बस में सवार लोग प्रतापगढ़ के रहने वाले थे और राज्य के कई धार्मिक स्थानांे से होते हुए मथुरा से वापस लौट रहे थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: देश की खबरें-1