DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देश की खबरें-2

राजद का आज बिहार बंद, सुरक्षा बढ़ीपटना (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जनता दल ने बढ़ती महंगाई सहित कई मुद्दों को लेकर गुरुवार को एक दिन के ‘बिहार बंद’ का आह्वान किया है। आवश्यक सेवाओं को बंद से मुक्त रखा गया है। बंद को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं।पुलिस मुख्यालय के अनुसार राज्य के सभी जिला पुलिस अधीक्षकों को बंद के दौरान अति आवश्यक सेवाओं को प्रभावित करने वाले लोगों के साथ सख्ती से पेश आने का निर्देश दिया गया है। राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) यू़ एस़ दा ने बुधवार को बताया कि बंद को देखते हुए रेल सेवाओं और यातायात के अन्य साधनों की सुरक्षा और उनके परिचालन के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। इसके लिए विभिन्न जिलों में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किए गए हैं। उन्होंने बताया कि दुकानों, बाजारों और सरकारी विद्यालयों को जबरन बंद कराने वाले तत्वों से सख्ती से निपटने के आदेश पुलिस अधीक्षकों को दिए गए हैं। बंद को लोक जनशक्ति पार्टी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने भी समर्थन दिया है। राजद के बिहार अध्यक्ष अब्दुल बारी सिद्दिकी ने बताया कि महंगाई से आम लोग त्रस्त हैं। उन्होंने इसके लिए केन्द्र और राज्य सरकार को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि महंगाई रोकने में दोनों सरकारें असफल साबित हुई हैं। भाकपा के राज्य सचिव बद्री प्रसाद ने कहा कि महंगाई पर रोक लगाने, भूमि सुधार लागू करने जैसे मुद्दों पर पार्टी स्वयं आंदोलन कर रही है। इसलिए बिहार बंद को पार्टी समर्थन देगी।आम लोग बन रहे हैं एक दिन के ‘थाना प्रभारी’पटना (आईएएनएस)। आपने फिल्मों में एक दिन के लिए ‘मुख्यमंत्री’ बनने की बात जरूर देखी-सुनी होगी परंतु बिहार के जमुई जिले में हकीकत में आम लोगों को एक दिन के लिए ‘थाना प्रभारी’ बनाया जा रहा है। पुलिस का मानना है कि इससे पुलिस और जनता के बीच रिश्ते सुधरेंगे तथा पुलिस के कार्य की जानकारी भी आम लोगों तक पहुंचेगी। यह कार्य गणतंत्र दिवस के मौके पर 26 जनवरी से शुरू कर दिया गया। जिले के एक पुलिस अधिकारी ने बुधवार को बताया कि एक दिन के लिए थाना प्रभारी बनने के इच्छुक लोगों से आवेदन मांगा गया है। उन्होंने बताया जब तक ये आवेदन प्राप्त होते रहेंगे यह सिलसिला जारी रहेगा।जमुई जिले के पुलिस अधीक्षक राकेश राठी ने बुधवार को बताया कि इस कार्य से जनता की पुलिस के कायर्ों में भागीदारी बढ़ेगी और वह पुलिस के कायर्ों में सहयोग देगी। उन्होंने बताया कि आम लोग जो एक दिन के लिए थाना प्रभारी बनेंगे वे किसी भी मामले की जांच नहीं करेंगे और ना ही कोई आदेश पारित करेंगे। उन्हें थाना कार्यालय में फोटोग्राफी की भी मनाही होगी। उन्होंने बताया कि प्राथमिकी दर्ज करने तथा गश्त करने की उन्हें पूरी छूट होगी। यही नहीं उन्हें एक दिन के लिए पुलिस का बिल्ला और टोपी भी उपलब्ध कराई जाएगी। जमुई के लोगों में इसको लेकर खासा उत्साह है। जमुई जिले में कुल 10 थाने हैं। इनमें से अधिकांश नक्सल प्रभावित माने जाते हैं।चोर पकड़वाने वाले बच्चों को पढ़ाएगी पुलिसखरगोन (आईएएनएस)। जज्बा और साहस के लिए उम्र कोई मायने नहीं रखती, इसका उदाहरण है खरगोन का नौ वर्षीय रोहित, जिसने मोबाइल चोर गिरोह को पकड़वाने में पुलिस की मदद की और पुलिस ने उसके इस जज्बे को सलाम करते हुए गणतंत्र दिवस के समारोह में सम्मान दिया। साथ ही पुलिस रोहित को विद्यालय भेजने का इंतजाम करेगी। खरगोन के कोतवाली थाना क्षेत्र में लगभग तीन माह पूर्व हुई मोबाइल की दुकान में चोरी पुलिस के लिए सिरदर्द बन गई थी। पुलिस ने हर तरफ हाथ पैर मारे मगर चोर उसके हाथ नहीं लगे। तभी एक नौ वर्षीय बालक रोहित पुलिस का मददगार बनकर सामने आया। उसने पुलिस को बताया कि उसने कुछ बच्चों को मोबाइल की दुकान में चोरी करने की बात करते सुना है। पहले तो पुलिस को रोहित की बात पर ज्यादा भरोसा नहीं हुआ।इसके बावजूद रोहित के बताए बच्चों से पूछताछ की गई तो पुलिस को चोरी का खुलासा करने में ज्यादा देर नहीं लगी। बाल चोर गिरोह द्वार चुराए गए लगभग एक लाख के मोबाइल भी पुलिस ने बरामद कर लिए। रोहित के पिता की मौत हो चुकी ही और मां ने दूसरा घर बसा लिया है। अपनी दादी के पास रहने वाले रोहित को न चाहते हुए भी स्कूल छोड़ना पड़ा था। वह दूसरी तक स्कूल गया है मगर हालात ने उसे आगे की पढाई जारी रखने से रोक दिया था। नक्सलियों ने 19 ट्रक फूंकेरायपुर (आईएएनएस)। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में 100 से अधिक नक्सलियों ने एनएमडीसी लिमिटेड के खनन परिसर पर धावा बोलकर 19 ट्रकों को आग लगा दी।राजधानी से करीब 400 किलोमीटर दूर दक्षिण में किरांदुल में देश की सबसे बड़ी लौह अयस्क खदान के परिसर पर हथियारबंद नक्सलियों ने देर रात करीब दो बजे के करीब धावा बोला। किरांदुल पुलिस थाने के प्रभारी लखन ठाकुर ने फोन पर बताया, ‘नक्सलियों ने किरांदुल में एनएमडीसी के 11-बी भंडार में घुस गए थे। एनएमडीसी के द्वारा माल ढुलाई के लिए भाड़े पर लाए गए ट्रकों को जला दिया। इसके चलते खदान में काम कर रहे सैकड़ाें कर्मचारियों में दहशत फैल गई।’उड़ीसा में 1,000 कछुओं की मौतभुवनेश्वर (आईएएनएस)। उड़ीसा के तटीय इलाकों में नवंबर से अब तक ओलिव रिडले प्रजाति के कम से कम 1,000 कछुओं को मृत पाया गया है। राज्य के एक वरिष्ठ वन्यजीव अधिकारी ने बुधवार को बताया कि भुवनेश्वर से 174 किलोमीटर दूर केंद्रपाड़ा जिले में गहिरमाथा समुद्री अभयारण्य के तहत देवी और धमरा नदीयों के मुहाने पर कछुए मृत पाए गए। प्रभागीय वन अधिकारी पी. के. बेहरा ने बताया, ‘सर्दी के इस मौसम में कम से कम एक हजार कछुओं को मृत पाया गया। उनमें से कुछ की मौत इसी सप्ताह हुई है।’ बेहरा ने बताया कि गत वर्ष सर्दी के मौसम के दौरान इसी तट के आसपास करीब दो हजार कछुओं को मृत पाया गया था। उन्होंने बताया कि कछुओं की सुरक्षा के लिए सरकार ने विभिन्न कदम उठाए हैं जिसकी वजह से उनकी मृत्यु दर में कमी आई है। दो किसानों की हत्यामुजफ्फरनगर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में मंगलवार रात को अज्ञात हमलावरों ने दो किसानों की गोली मारकर हत्या कर दी। जिले के पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) राजू बाबू ने बुधवार को संवाददाताओं को बताया कि कैराना थाना क्षेत्र के पंढेर गांव में मंगलवार रात किसान सरदार गोस्वामी और उनके बेटे सुभाष की अज्ञात लोगों ने गोलीमार हत्या कर दी। पुलिस के मुताबिक वारदात उस समय हुई जब दोनों देर शाम गन्ने के खेत से वापस घर आ रहे थे। गोलियां लगने के बाद दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। इस मामले की जांच आरंभ कर दी गई है और हमलावरों को पकड़ने की कोशिश जारी है। लाल चौक पर ध्वजारोहण नहीं होने की भाजपा ने की निंदा जम्मू (आईएएनएस)। श्रीनगर के लाल चौक पर गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा नहीं फहराए जाने की भारतीय जनता पार्टी ने निंदा की है। पिछले 19 वर्षो से गणतंत्र दिवस के मौके पर हमेशा ही लाल चौक पर झंडा फहराया जाता था लेकिन मंगलवार को वहां न तो झंडा ही फहराया गया और न ही वहां कोई रौनक दिखी।भाजपा विधायक अशोक खजूरिया ने बुधवार को कहा, ‘अलगाववादी ताकतों के खिलाफ मुस्तैदी से खड़ा होने की सरकार की अक्षमता को यह प्रदर्शित करता है।’ उन्होंने सरकार पर अलगाववादी ताकतों और समाजविरोधी तत्वों के खिलाफ झुकने का आरोप लगाया। लाल चौक स्थित क्लॉक टावर पर तिरंगा फहराने की शुरुआत 1991 में भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी ने की थी। इसके बाद से इस क्षेत्र में तैनात अर्धसैनिक बलों द्वारा प्रति वर्ष यहां तिरंगा फहराया जाता था लेकिन इस वर्ष केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की ओर से इस सिलसिले को जारी नहीं रखा गया। सीआरपीएफ का कहना है कि यह आयोजन कभी भी राज्य सरकार की ओर से नहीं होता था। लाल चौक पर तैनात अर्धसैनिक बलों की ओर से निजी तौर पर इसका आयोजन किया जाता था।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: देश की खबरें-2