DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नकली नोटों के अंतरराष्ट्रीय गिरोह का भंडाफोड़ नेपाली ऑपरेटर समेत तीन

िवशेष संवाददाता लखनऊनेपाल से भारत में जाली नोटों की सप्लाई करने वाले एक अंतरराष्ट्रीय िगरोह का एसटीएफ ने बुधवार को भण्डाफोड़ कर नेपाली ऑपरेटर डॉ. समीर उर्फ अली अहमद और उसके दो सािथयों को िगरफ्तार किया। उनके कब्जे से डेढ़ लाख रुपए के जाली नोट बरामद हुए हैं। इस िगरोह का नेटवर्क िबहार, गुजरात, झारखण्ड, हिरयाणा और पंजाब तक फैला है। एसएसपी एसटीएफ नवीन अरोड़ा ने बताया कि कई महीने से सूचना िमल रही थी कि नेपाल के वीरगंज थाना वीरताजिंला पारस नेपाल िनवासी डॉ. समीर भारत में जाली नोट सप्लाई करने में लगा है। बुधवार को खबर िमली कि वह लखनऊ के चारबाग इलाके में मौजूद है। एसटीएफ के डीएसपी डॉ. अरिवंद चतुर्वेदी की टीम ने उसे नाका इलाके में दो सािथयों फैजाबाद के अंकित वर्मा उर्फ राम मूरत वर्मा और रामयज्ञ यादव उर्फ भक्कू के साथ िगरफ्तार किया। उनके पास से 1.5 लाख के जाली नोट बरामद हुए। पाँच मोबाइल, सात िसमकार्ड और चार एटीएम व क्रेिडट कार्ड भी िमले। समीर ने पूछताछ में कबूला कि वह काठमांडू के बडेम् कारोबािरयों से 35 हजार रुपए में एक लाख के जाली नोट खरीदता था। िफर ये नोट 55 से 60 हजार रुपए में बेचे जाते थे। अंकित व रामयज्ञ को उसने गुजरात में नोट सप्लाई के िलए एजेंट बना रखा था। समीर ने झारखंड, िबहार, हिरयाणा, पंजाब और पिश्चम बंगाल में एजेंट फैला रखे थे। ये एजेंट देशभर में जाली नोट सप्लाई करते थे। एसटीएफ को उसके एजेंटों के पते-िठकाने मालूम हुए हैं। समीर के एक एजेंट गोंडा के कुंदन किशोर को लखनऊ की अदालत से कुछ िदन पहले दस साल की सजा हो चुकी है। यूनुस अंसारी से लेता था जाली नोट डा. समीर नेपाल में जाली नोटों के सबसे बड़े सौदागर आईएसआई एजेंट यूनुस अंसारी से जाली नोट लेता था। यूनुस िफलहाल काठमांडू की जेल में है। इसके िपता सलीम िमयां अंसारी नेपाल में वनमंत्री थे। कुछ िदनों पहले उनकी रहस्यमय ढंग से हत्या कर दी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नकली नोटों के अंतरराष्ट्रीय गिरोह का भंडाफोड़ नेपाली ऑपरेटर समेत तीन