DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वित्तविहीन शिक्षकों पर पानी की बौछार

प्रदर्शन के लिए जीपीओ जा रहे थे, आधा दर्जन चोटिल निज संवाददाता लखनऊ शहीद स्मारक पर धरना दे रहे माध्यमिक वित्तविहीन शिक्षकों पर पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया। पुलिस ने उन पर पानी की बौछार भी की। इसमें लगभग आधा दर्जन शिक्षकों को चोट आई। यह लोग प्रदर्शन करने जीपीओ जाने का प्रयास कर रहे थे। उनकी माँग है कि रिजल्ट आधारित वेतन अनुदान देने सहित उनकी छह सूत्री प्रमुख समस्याओं का समाधान किया जाए। माध्यमिक वित्तविहीन शिक्षक महासभा के आह्वान पर वित्तविहीन विद्यालयों के शिक्षक शहीद स्मारक पर धरने पर बैठे। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष चौधरी रामवीर सिंह यादव ने कहा कि वित्तविहीन मान्यता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों को राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान में पूर्ण रूप से शामिल करते हुए शिक्षकों को रिजल्ट आधारित वेतन अनुदान दिया जाए। तीन वर्ष का अनुभव प्राप्त कर चुके सभी वित्तविहीन अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षण मुक्त किया जाए। उनके विद्यालयों की मान्यता धारा-7 (4) के अन्तर्गत की जाए। सेवा नियमावली से शिक्षक के पूर्व लगे अंशकालिक शब्द को हटाया जाए। वित्तविहीन और सवित्त विद्यालयों में कार्यरत प्रधानाचार्य, शिक्षकों और छात्रों के साथ एक मापदण्ड अपनाया जाए। धरने के बाद यह शिक्षक जीपीओ जाना चाहते थे। जिला प्रशासन ने इसकी अनुमति नहीं दी, तो शिक्षकों ने परिवर्तन चौक जाने की इच्छा व्यक्त की, पर प्रशासन ने इसकी भी अनुमति नहीं दी। इससे नाराज शिक्षकों ने जीपीओ कूच का ऐलान कर दिया। वह जैसे ही शहीद स्मारक की सीढिम्यों पर आए। पुलिस ने पानी की बौछार करना शुरू कर दिया। पुलिस ने शिक्षकों को खदेड़ने के लिए हल्का बल भी प्रयोग किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वित्तविहीन शिक्षकों पर पानी की बौछार