DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘शिक्षामित्रों को शिक्षक बनाए राज्य सरकार’ बेसिक शिक्षा मंत्री से मिला

िनज संवाददाता लखनऊिशक्षण कार्य का 10 वर्ष का अनुभव िलए हुए प्रदेश में करीब दो लाख िशक्षािमत्र िशक्षक बनने को तैयार हैं। ऐसे में प्राथिमक िशक्षा में िशक्षकों की कमी होने का राग अलापना व्यर्थ है। राज्य सरकार इन िशक्षािमत्रों को िशक्षक बनाने का शीघ्र फरमान जारी करे। यह माँग उत्तर प्रदेश प्राथिमक िशक्षािमत्र संघ की प्रदेश कार्यकािरणी की बैठक में संगठन के प्रदेश अध्यक्ष गाजी इमाम आला ने की। उन्होंने कहा कि प्राथिमक िशक्षा को िशक्षािमत्रों ने अपने त्याग और पिरश्रम से पटरी पर लाने का काम किया है। उन्हीं के बलबूते प्रदेश को सर्विशक्षा अिभयान के दौरान 2007 में केंद्र सरकार ने सम्मािनत किया। इसके बावजूद राज्य सरकार िशक्षािमत्रों को िशक्षक बनाने के नाम पर बहका रही है। सरकार को चािहए कि प्रदेश के पिरषदीय िवद्यालयों में िशक्षकों के िरक्त पदों पर पहले िशक्षािमत्रों को समायोजन सुिनिश्चत करके 17 फरवरी 2009 को हुए समझौते का पालन करे। उन्होंने िशक्षािमत्रों से िशक्षक बनने तक संघर्ष जारी रखने का आह्वान किया। प्रान्तीय संरक्षक िशव कुमार शुक्ला ने कहा कि िशक्षािमत्र िशक्षक का सम्मान पाने का हकदार है,क्योंकि िशक्षािमत्रों की योग्यता और अनुभव के सहारे आज प्रदेश की प्राथिमक िशक्षा सही िदशा में है। संगठन के प्रदेश मंत्री अिनल वर्मा और प्रदेश प्रवक्ता िशव श्याम िमश्र ने बताया कि संघ के एक प्रितिनिधमंडल ने बेिसक िशक्षा मंत्री से मुलाकात की और िशक्षािमत्रों को प्रिशिक्षत कर िशक्षक बनाने की माँग की। मंत्री जी ने इस बावत आश्वासन िदया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘शिक्षामित्रों को शिक्षक बनाए राज्य सरकार’ बेसिक शिक्षा मंत्री से मिला