DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्राविधिक विवि कर्मचारी हड़ताल पर गए प्रवेश परीक्षा का काम भी

विरष्ठ संवाददाता लखनऊप्रािविधक िवश्विवद्यालय के कर्मचारी सोमवार से हड़ताल पर चले गए। उन्होंने काम ठप कर िदया और पिरसर में धरना िदया। इसका सबसे ज्यादा असर प्रवेश परीक्षा कार्यो पर पड़ा है। अभी ज्यादातर प्रवेश पत्र भेजे नहीं गए हैं। प्रवेश परीक्षा 17-18 अप्रैल को होनी है। उधर, कर्मचािरयों का कहना है कि जब तक उन्हें स्थायी नहीं किया जाएगा तब तक वे हड़ताल जारी रखेंगे। प्रािविधक िविव की स्थाना 2000 में हुई थी। तभी अस्थायी कर्मचारी रखे गए थे। उसके बाद से एक भी स्थायी कर्मचारी नहीं रखा गया है। िपछले साल कार्यपिरषद ने सैद्धािंतक सहमित देकर इनकी उम्मीदें और बढ़ा दी थीं। कर्मचािरयों के समायोजन की समीक्षा के िलए एक कमेटी बनाई थी। अब उस कमेटी की िरपोर्ट के आधार पर िविव ने इन्हें स्थायी करने से यह कहकर इनकार कर िदया है कि कर्मचािरयों का चयन वैधािनक प्रक्रिया से नहीं हुआ। िविव के इसी फैसले से नाराज कर्मचारी सोमवार सुबह इकट्ठा हुए और पिरसर में ही धरने पर बैठ गए। परीक्षा िवभाग, रिजस्ट्रार कार्यालय सिहत कई िवभागों के कर्मचारी हड़ताल पर रहे। कर्मचािरयों का कहना है कि अब तक िसर्फ 15 हजार प्रवेश पत्र डाक से भेजे गए हैं। सोमवार को प्रवेश पत्र नहीं भेजे गए। उन्होंने यह भी कहा है कि जब तक उन्हें िनयुिक्त पत्र नहीं िमल जाता तब तक वे प्रदर्शन करेंगे। रिजस्ट्रार यू. एस. तोमर का कहना है कि प्रवेश परीक्षा का काम प्रभािवत नहीं हुआ है। यह काम एजेंसी से आउटसोर्िसग के जिरए कराया जा रहा है। उन्होंने 60 हजार प्रवेश पत्र भेजे जाने का दावा किया। उन्होंने यह भी कहा कि यह हड़ताल अवैधािनक है। इस बारे में सभी कर्मचािरयों को बताया जा चुका है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्राविधिक विवि कर्मचारी हड़ताल पर गए प्रवेश परीक्षा का काम भी