DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिसिया उत्पीड़न के खिलाफ माले का धरना

लखनऊ। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को शहीद स्मारक पर धरना दिया। उनका आरोप है कि एक ओर पीलीभीत के राहुल नगर में कार्यकर्ताओं पर पुलिस का दमन चक्र चल रहा है तो दूसरी ओर क्षेत्रीय कांग्रेसी नेता व उनके समर्थक जानलेवा हमला कर रहे हैं। उन्होंने माले कार्यकर्ताओं पर लगे फर्जी मुकदमे वापस लिए जाने की माँग की।भाकपा (माले) के पोलित ब्यूरो सदस्य रामजी राय ने कहा कि मुख्यमंत्री मायावती के शासन में नौकरशाही व पुलिस को जनता के हक को लूटने और लोकतांत्रिक आंदोलनों के दमन की पूरी छूट दे दी गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि मिर्जापुर, गाजीपुर या फिर पीलीभीत हर जगह माले कार्यकर्ताओं को फर्जी मुकदमें में फँसाया जा रहा है। उन्होंने माँग की कि राहुल नगर से पीएसी का कैम्प हटाया जाए। धरने को क्रांति कुमार सिंह, बालमुकुन्द धुरिया, एपवा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ताहिरा हसन, जिला सचिव शिव कुमार, शोभा सिंह, मीना, रेणु, रंजना यादव, सुरेन्द्र, बाबूराम, जगदीश और अमरनाथ ने भी सम्बोधित किया। निसं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुलिसिया उत्पीड़न के खिलाफ माले का धरना