DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संशो.. बंगला बाजार में नहीं बँट पाया दूध

लखनऊ। महारैली में जुटी भीड़ और जगह-जगह लगे बैरीकेटिंग की वजह से दूध की गाडिम्याँ बंगला बाजार और आसपास के क्षेत्रों में दूध की आपूर्ति नहीं कर सकीं। यही हाल सालेह नगर, किला चौराहे, आशियाना और रेल नगर के लोगों का भी रहा। पराग और अमूल दूध की आपूर्ति इन क्षेत्रों में भी नहीं हो सकी। गोमती इस पार के लोगों को गाँव से दूध लेकर आने वाले दूधियों पर निर्भर रहना पड़ा। पराग के एटीएम भी जल्दी ही खाली हो गए। नरही से दिलकुशा तक पराग की सप्लाई करने वाले वाहन चालक सतीश कुमार सिंह ने बताया कि उन्होंने आठ से दस सेंटरों पर 150 दूध की क्रेट अन्य दिनों की तरह ही दी। कासंइनसेट....हर सेंटर पर पहुँचा दूध हर सेंटर पर दूध पहुँचाया गया है। हो सकता है कि रैली के आसपास वाले क्षेत्रों में बैरीकेटिंग होने से दूध की गाडिम्याँ नहीं पहुँच पाई हों, लेकिन सोमवार को एक लाख 28 हजार टन दूध की बिक्री हुई। नवरात्रि के मद्देनजर पाँच हजार लीटर दूध की माँग बढ़ी है। - वीके सक्सेना, मैनेजर माकेर्टिग, पराग दूधं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संशो.. बंगला बाजार में नहीं बँट पाया दूध