DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बरींद्र छोड़ेंगे सोपू की कमान

कार्यालय संवाददाता चंडीगढ़स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी (सोपू) के प्रधान बरींद्र ढिल्लों अपने संगठन की मान छोड़ेंगे। बॉस्टन मामले में लगातार विरोधियों का निशाना बने बरींद्र 10 मार्च से पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे देंगे। इस बारे में बरींद्र ने साफ तौर पर तो कुछ नहीं कहा, लेकिन उसने बताया कि बॉस्टन मामले में जिस तरह से उस पर आरोप लग रहे हैं, उससे पार्टी को कोई नुकसान नहीं पहुंचे, इसलिए ही वह यह पद छोड़ने की इच्छा रखता है। वह पूरे मामले का व्यक्तिगत तौर पर सामना करना चाहता है। बरींद्र की अगुवाई में सोपू लगातार दो बार पीयू छात्रसंघ की कुर्सी पर काबिज होने में सफल रही है। 2008 में जहां साहिल नंदा वहीं 2009 में अमित भाटिया ने अध्यक्ष पद का चुनाव जीता।रविवार को सोपू की बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में बरींद्र के साथ ही हरप्रीत मुल्तानी और चेयरमैन उदय भान भी उपस्थित थे। इस बैठक में तय किया गया कि अकादमिक सत्र 2010-11 के लिए सोपू अपनी नई टीम की घोषणा झंकार के स्टार नाईट को की जाएगी। मिली जानकारी के अनुसार नई जिम्मेदारी यूनिवर्सिटी इंस्टीटय़ूट ऑफ लीगल स्टडीज के छात्र हर्षवर्धन को सौंपी जाएगी। अगले चुनाव में वही सोपू का चेहरा होंगे।बैठक में बॉस्टन घटनाक्रम भी चर्चा हुई। मुख्य तौर पर बॉस्टन मामले में सोपू और उसके नेता ही घिरे हैं। हालांकि सोपू नेताओं का कहना है कि उन पर लगाए जा रहे आरोप बेबुनियाद है। जांच में जो भी दोषी हो, उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। धरना प्रदर्शन के बारे में सोपू का कहना है कि जब तक बहुत जरूरी नहीं हुआ, सोपू इस दिशा में कदम नहीं बढ़ाएगी क्योंकि मुख्य तौर पर यूआईईटी के छात्रों को नुकसान होता है। प्लसेमेंट की समस्या सामने आती है। साथ ही बैठक में छात्रसंघ के अध्यक्ष अमित भाटिया की भी प्रशंसा की गई।फोटो: बरींद्र नाम से सोहणी सिटी में सेव की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बरींद्र छोड़ेंगे सोपू की कमान