DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बबला को मिली वोटिंग की अनुमति

सुरजीत सिंहचंडीगढ़। ग्रेन मार्केट में शेड अलॉटमेंट घोटाले में फंसे कांग्रेसी पार्षद दविंदर सिंह बबला को अदालत ने मार्केट कमेटी के चेयरमैन के होने वाले चुनाव में वोटिंग करने की इजाजत दे दी है। बबला न्यायिक हिरासत में बुड़ैल जेल में बंद है और वकील के जरिए अदालत में वोटिंग की इजाजत की अर्जी दायर की गई थी।मार्केट कमेटी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के नौ सदस्यों में से बबला भी एक हैं। मंगलवार को चेयरमैन का चुनाव होने जा रहा है, इसी के चलते बबला ने अपने वकील के जरिए एडिशनल चीफ जुडीशियल मजिस्ट्रेट अंशुल बेरी की अदालत की अर्जी में वोटिंग के लिए चुनाव प्रक्रिया में शामिल होने की इजाजत मांगी थी। बबला ने मार्केट कमेटी की अन्य मीटिंग्स अटेंड करने के अलावा और भी काफी कुछ के लिए इजाजत मांगी थी, लेकिन अदालत ने इन मांगों को अस्वीकार कर दिया।उल्लेखनीय है कि इससे पहले अदालत बबला को नगर निगम के मेयर के चुनाव में वोटिंग के लिए भी इजाजत दे चुकी है। उस वक्त बबला पुलिस हिरासत में चल रहे थे और पुलिस सुरक्षा के बीच बबला ने मेयर चुनाव में भाग लिया था। इसके बाद बबला ने एक अन्य मीटिंग में इजाजत लेने की अर्जी भी अदालत में दायर की थी, लेकिन उस वक्त बबला को अदालत ने इजाजत देने से इंकार कर दिया था। उस मीटिंग में फाइनांस कमेटी के गठन का फैसला होना था।पुलिस ने ग्रेन मार्केट में शेड अलॉटमेंट में घपले के आरोप में बबला के खिलाफ मामला दर्ज किया था। पुलिस बबला को गिरफ्तार नहीं कर पाई थी और नगर निगम के मेयर के चुनाव से ठीक पहले बबला ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया था। इसके बाद से ही बबला पहले पुलिस और फिर न्यायिक हिरासत में चल रहे हैं। शेड अलॉटमेंट घपले के मामले में जिला अदालत द्वारा बबला की नियमित जमानत की अर्जी नामंजूर की जा चुकी है। हालांकि जेल में सिम ले जाने के मामले में उन्हें अदालत से जमानत मिल चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बबला को मिली वोटिंग की अनुमति