DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संशो. खूब बिके पोस्टर व टोपियाँ

लखनऊ । रैली में डॉ. अम्बेडकर, कांशीराम व मुख्यमंत्री मायावती के पोस्टरों की भी खूब बिक्री हुई। रैली स्थल के आस-पास बने स्टालों पर इन्हें खरीदने वालों की भीड़ लगी थी। दोपहर एक बजते-बजते कई दुकानों पर पोस्टर व टोपियाँ खत्म हो गईं। दलित महापुरुषों के साहित्य खरीदने वालों की भी कमी नहीं थी। इसके लिए सैकड़ाें दुकानें लगी थीं। कानपुर देहात से आईं रामदुलारी कांशीराम का पोस्टर खरीद रही थीं तो उनके पति ने बसपा वाली 25 रुपए की पर्स खरीदी। युवाओं की भीड़ दलित चेतना जगाने वाले महापुरुषों के साहित्यों वाले स्टॉल पर थी। अम्बेडकर विश्वविद्यालय से सटकर लगी एक दुकान पर कुछ ही देर में सारी किताबें व पोस्टर बिक गए। कासं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संशो. खूब बिके पोस्टर व टोपियाँ