DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विजिलेंस ने शुरू की बीआरजेपी में जांच

िहन्दुस्तान प्रितिनिधपटना नगर िनगम और पटना क्षेत्रीय िवकास प्रािधकार (िवघिटत) की फाइल खंगालने के बाद िविजलेंस ब्यूरो ने िबहर राज्य जल पर्षद की फाइलों को भी टटोलना शुरू कर िदया है। ब्यूरो की टीम सोमवार को राजापुर पुल के पास िस्थत बीआरजेपी कार्यालय में जांच शुरू की। इस दौरान पूर्व नगर आयुक्त व बीआरजेपी के प्रबंध िनदेशक सेिंथल कुमार भी थे। ब्यूरो की टीम सेिंथल के कार्यकाल में हुई सामानों की खरीद की जांच कर रही है। िविजलेंस सूत्रों के अनुसार बीआरजेपी के चालू िवत्तीय वर्ष के बजट में संप हाउसों के मोटर, ट्रांसफार्मर व पाइप आिद की खरीद के िलए 25 करोड़ खर्च करने की योजना बनायी गयी थी। इसमें 13 करोड़ रुपए के मोटर, ट्रांसफार्मर व पाइप आिद की खरीद हुई है। िविजलेंस सूत्रों का कहना है कि इस खरीद में गोलमाल के संकेत िमले हैं। इसकी खरीद के िलए िपछले वर्ष अगस्त में िनकाले गए टेंडर की प्रक्रिया और शर्तो में मनमािफक बदलाव की गयी है। कहा जा रहा है कि इस मामले की जांच के िलए लोग स्वास्थ्य अिभयंत्रण िवभाग के प्रधान सिचव द्वारा गिठत जांच कमेटी की वह िरपोर्ट भी ब्यूरो के हाथ लगी हैजिंसमें टेंडर की गड़बड़ी को उजागर किया गया है। िविजलेंस सूत्रों की मानें तो िबना थर्डपार्टी इंस्पेक्शन के ही मोटर व पंप आिद की आपूिर्त लेकर भुगतान किया गया है। िपछले वर्ष जनवरी व मार्च में पंप, मोटर व ट्रांसफार्मरों की खरीद व रख-रखाव के िलए िनकाले गए टेंडर की शर्तो में मनमािफक बदलाव कर एक खास कंपनी को फायदा पहुंचाने की बात भी कही जा रही है। कहा यह भी जा रहा है इस टेंडर में भाग नहीं लेने वाली कंपनी को कार्य भी आविंटत किये गए हैं और टेंडर में न्यूनतम रेट देने वाली कंपनी को आपूिर्त आदेश नहीं िदया गया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विजिलेंस ने शुरू की बीआरजेपी में जांच