DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैट में भी शीर्ष पर सोहणी सिटी

अंकित गर्ग बने टॉपरपहले चरण में ग्रेटर चंडीगढ़ के 25 छात्रों को दो आईआईएम्स की कॉलकार्यालय संवाददाता चंडीगढ़ एजुकेशन हब के तौर पर पहचान बनाने वाली सोहणी सिटी के स्टूडेंट्स ने कैट की परीक्षा में एक बार फिर धमाल मचाया है। लगातार तीसरी बार शहर के छात्र ने 100 परसेंटाइल हासिल किया है। सेक्टर-48 के रहने वाले अंकित गर्ग ने 100 परसेंटाईल कर एक मिशाल कायम की। पेक यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के छात्र अंकित के अलावा उनके कई और भी साथियों को अहमदाबाद और शिलांग से कॉल आई है। शुरू से ही ढुलमुल चल रहे कैट के परिणाम भी सुलभता से नहीं मिले। पहले चरण में आईआईएम अहमदाबाद और शिलांग ने अपने परिणाम घोषित किए हैं। होली के बाद अन्य आईआईएम अपने परिणाम घोषित करेंगे।पहले चरण में ही शहर के 25 छात्रों को कॉल आने से यह साफ हो गया है कि सभी आईआईएम्स के परिणाम घोषित होने के बाद कुल कॉल पाने वालों की संख्या 60 के पार जाएगी।कैट 2009 में लगभग 2.4 लाख छात्र बैठे थे। इनमें से 12 हजार छात्र ट्राईसिटी से थे। लिखित परीक्षा के बाद अब छात्रों का चयन पर्सनॉलिटी और अन्य आधार पर होगा। इन छात्रों को देश के आठ आईआईएम की ओर से कॉल आने की उम्मीद होगी। पहले के सात आईआईएम के साथ ही इस बार आईआईएम रांची भी शामिल हो गया है। आईआईएम कोलकाता की मेंटरिंग में इस आईआईएम में 200 छात्रों को इस वर्ष दाखिला मिलेगा। इसके अलावा चंडीगढ़ से जुड़े रीजन में नॉन आईआईएम सदस्य बी-स्कूलों में भी लगभग 3 हजार छात्रों के दाखिले की संभावना है।इस बीच कैट परीक्षा के परिणाम घोषित होने के साथ ही साथ शहर के विभिन्न कोचिंग सेंटर्स में धमाल मचने लगा। अपने-अपने छात्रों की सफलता पर टीचर्स भी काफी खुश दिखे। बुल्स आई के प्रमुख हृदयेश मदान ने कहा कि छात्रों को इसी कॉल से संतुष्ट होने की जरूरत नहीं है। उन्हें आगे की तैयारी पर भी विशेष जोर देना चाहिए, हम यह नहीं भूल सकते कि पिछले वर्ष हमारे शहर के ही छात्र ने 100 परसेंटाइल हासिल किया था लेकिन वह सिर्फ शिलांग की कॉल ही कन्वर्ट कर सका था।99.94 पर भी नहीं मिली कॉलइस बार रिजल्ट का आलम यह रहा कि कैट में 99.94 परसेंटाइल हासिल करने के बाद भी पेक के छात्र सुशांत को न तो आईआईएम अहमदाबाद और न ही शिलांग आईआईएम से कोई कॉल मिली। पेक का यह छात्र इससे काफी सकित है। सुशांत का कहना है कि भले ही इन दो में उसे कॉल नहीं मिली, लेकिन अन्य आईआईएम से उसे निश्चित तौर पर कॉल मिलेगी। इसी तरह गुंजन कपूर भी 99.81 परसेंटाइल हासिल करने के बावजूद कॉल की वेट कर रहा है। गूंजन का कहना है कि उसे पूरा विश्वास है कि उसे भी बाकी सभी आईआईएम से कॉल हासिल करने में सफल होंगे।बॉक्सअनुभव के बाद उतरूंगा बिजनेस के मैदान मेंशुरू से ही मेरा फोकस एमबीए की ओर था, लेकिन एमबीए से पहले बैचलर डिग्री जरूरी है। इसलिए मैने पेक में दाखिला ले लिया। मैं फिलहाल फाइनल ईयर में हूं। मेरी इच्छा है कि मैं फाइनेंस में एमबीए की डिग्री लूं। डिग्री लेने के बाद मैं इंडस्ट्री में कुछ अनुभव हासिल करूंगा। अनुभव हासिल करने के बाद खुद का बिजनेस शुरू करने की भी मेरी इछा है। एक सफल एन्ट्रेप्रेन्योर बनने से मुङो तो नौकरी मिलेगी ही, कई औरों के लिए भी अवसर सृजित हो सकेगा।मैं यह परिणाम हासिल करने की खातिर छह-सात महीने तक पूरी तरह से लगा रहा। तैयारी के दौरान स्टडी मैटेरियल का मुङो काफी फायदा मिला। आमतौर पर प्रतिदिन 3-4 घंटे की ध्यान से पढ़ाई और मॉक टेस्ट के माध्यम से यह लक्ष्य भेदा है। मेरा मानना है कि किसी भी छात्र को अपने विचार स्पष्ट रखने चाहिए। तैयारी तो हम काफी करते हैं लेकिन जो मौके पर स्थिति के अनुरूप अंतिम निर्णय लेने में सक्षम होता, सफल भी वही होता है। किसी भी लक्ष्य को भेदने में हार्ड वर्क जरूरी है, लेकिन इसके साथ अगर स्मार्ट वर्किंग मिले तो फिर लक्ष्य पूरा होना निश्चित है। मेरी इस सफलता में मेरे माता-पिता और टीचर्स का अहम योगदान है। मैं सचिन का बहुत बड़ा फैन हूं। सचिन ने 20 वर्ष से भी अधिक समय तक जो प्रदर्शन किया है और दबाव के बावजूद एक के बाद एक मुकाम हासिल किया है, उससे मुङो काफी कुछ करने की सीख मिलती है।- अंकित गर्ग, आईआईएम टॉपरफोटो: चंडीगढ़ लाइव में सेव की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कैट में भी शीर्ष पर सोहणी सिटी