DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कॉलेजों में एक ही फीस स्ट्रक्चर

-िसंडीकेट ने दी स्टूडेंट्स को राहतचंडीगढ़।पंजाब यूिनविर्सटी से एिफिलएिटड कॉलेजों में चल रहे कोर्स के िलए अब अलग-अलग फीस स्ट्रक्चर नहीं होगा। सभी कॉलेजों को जनरल और सेल्फ फाइनांस स्कीम में चल रहे कोर्स के िलए बराबर फीस वसूलनी पड़ेगी। यह फैसला शिनवार को पंजाब यूिनविर्सटी की िसंडीकेट बैठक में िलया गया। अभी तक कई कॉलेज एक ही कोर्स के िलए जनरल और सेल्फ फाइनेिंसंग कैटोिगरी में अलग-अलग फीस ले रहे हैं। काफी समय से इन कॉलेजों में एक ही कोर्स के िलए एक ही फीस की मांग उठ रही थी। िसंडीकेट ने इसी मसले को ध्यान में रखते हुए इसे पािरत किया है।िसंडीकेट की बैठक में उन स्टूडेंट्स को भी राहत दी गई, जो किसी कारणवश अपनी िडग्री पूरी नहीं कर पाए। ऐसे स्टूडेंट्स के िलए पीयू ने एक अितिरक्त चांस देने की पहल की है। इसी के साथ िसंडीकेट ने पीयू के रीजनल सेंटरों से पीयू के िलए माइग्रेड होने पर वसूली जाने वाली भारी-भरकम फीस को भी कम कर िदया है। अभी माइग्रेशन के िलए स्टूडेंट्स को 40 हजार रुपए फीस देनी पड़ती है लेकिन अब यह पीयू की तरफ से ली जाने वाली फीस के बराबर होगी। इसी तरह, पीयू में रहने वालों को ई-संपर्क सेंटर सेवा का रास्ता भी साफ हो गया है। िसंडीकेट ने चंडीगढ़ प्रशासन की तरफ से सेक्टर-14 और 25 में ई-संपर्क सेंटर खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।हार्वर्ड का मामला भी गूंजािसंडीकेट में हार्वर्ड यूिनविर्सटी में पीयू के स्टूडेंट्स की करतूत पर जमकर हंगामा हुआ। पीयू अथॉिरटी ने इस मामले में बैठक के दौरान हार्वर्ड की एनजीओ से आई पहली िरपोर्ट की कॉिपयों को सार्वजिनक किया। िसंडीकेट में फैसला किया गया कि इस मामले में जो भी दोषी पाया गया, उसे कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी। थीिसज की दोबारा होगी जांचएमिफल में पएचडी स्टूडेंट के थीिसज को कॉपी करने के िववािदत मसले पर िसंडीकेट में कोई फैसला नहीं हो पाया। िसंडीकेट सदस्यों ने कहा कि िडजरटेशन के िलए टॉिपक गाइड देता है। इसिलए इस मामले की गंभीरता से जांच होनी चािहए। इस जांच के बाद ही कार्रवाई का फैसला किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कॉलेजों में एक ही फीस स्ट्रक्चर