DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनरेगा में नकद धन निकासी पर भी नहीं हुई कार्रवाई गोसाईंगंज में

िनज संवाददाता लखनऊमनरेगा के तहत अगस्त, 2008 से नकद पैसा िनकासी पर पूरी तरह से रोक लगने के बावजूद गोसाईंगंज ब्लॉक में इस िनयम का खुलकर उल्लंघन हुआ। इसमें मजदूरी और सामग्री के नाम पर लाखों रुपए चेक के जिरए िनकाले गए। क्षेत्र पंचायत से जुडम यह मामला खुला तो घोटाले के शक में सीडीओ ने जाँच के आदेश भी िदए। ब्लॉक पर तैनात रहे दो खण्ड िवकास अिधकारी सीधे इसमें फँसते नजर आ रहे थे। करीब एक वर्ष बीतने के बावजूद इस मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जबकि इसी ब्लॉक की ग्राम पंचायत से जुडम्े ऐसे ही एक मामले में चार प्रधानों और यहाँ तैनात रहे एक पंचायत सिचव के िखलाफ िरपोर्ट दर्ज कराई जा चुकी है। गोसाईंगंज ब्लॉक में मनरेगा के तहत क्षेत्र पंचायत अंश से तीन पंचायत सिचवों के नाम पर यहाँ तैनात रहे दो बीडीओ व प्रमुख के हस्ताक्षर से करीब सवा दस लाख रुपए नकद िनकाले गए। पहले मार्च 2009 में तत्कालीन बीडीओ ने बैंक ऑफ बडमदा की गोसाईंगंज शाखा से क्षेत्र पंचायत के खाते से पंचायत सिचव के नाम से करीब दो लाख 15 हजार व दूसरे सिचव के नाम पर 73 हजार रुपए िनकाल गए। िफर बीडीओ का तबादला हो गया। इसके बाद आईं बीडीओ ने भी क्रमश: करीब दो लाख 11 हजार एक बार, तीन लाख रुपए और दो लाख 25 हजार रुपए िनकलवाए। यह सभी चेक सिचवों के नाम पर िदए गए। जबकि िनयम के तहत कोई भी चेक नाम से िदया ही नहीं जा सकता। यह धन कहाँ खर्च हुआ इसका भी कोई िहसाब-किताब नहीं है। जानकार बताते हैं कि इस पैसे से जहाँ काम होना बताया जा रहा है वहाँ पर काम की अिंतम नापजोख भी नहीं हुई।जिंन दुकानों से नकद सामग्री खरीदनी बताई जा रही है, वहाँ भी कई पेंच िदख रहे हैं। यहाँ िवत्तीय िनयमों का कोई पालन ही नहीं किया गया है। इस मामले में सीडीओ कौशलराज शर्मा बताते हैं कि जाँच में जो भी दोषी होगा उसके िखलाफ कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मनरेगा में नकद धन निकासी पर भी नहीं हुई कार्रवाई गोसाईंगंज में