DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शब्दों में करिश्मा हो तो यादगार होंगे गीत:प्रसून

िनज संवाददाता लखनऊ‘फूल गेंदा’ और ‘तारे जमी पर’ जैसे लाजवाब गीत िलखने वाले प्रसून जोशी की आगामी िफल्म ‘भाग िमल्खा भाग’ में उनके गीत ही नहीं बिल्क कहानी भी होगी। अगर अच्छा स्टोरी प्लॉट िमल गया तो वह िफल्म िनर्देिशत भी करना चाहेंगे। उनके अनुसार डेढ़ से दो घंटे की िफल्में भी बेहतर िबजनेस कर रही हैं। अगर शब्दों में किरश्मा होगा तो गीत यादगार जरूर बनेंगे। ‘लज्जा’ से लेकर ‘हम-तुम’, ‘ब्लैक’, ‘रंग दे बसंती’, ‘फना’, ‘गजनी’, ‘लंदन ड्रीम्स’ और ‘िसकंदर’ जैसी िफल्मों से लोकिप्रयता के िशखर पर पहुँचे प्रसून के अनुसार वह अपने को लखनऊ का ही मानते हैं क्योंकि उनके माता-िपता लखनऊ में इिंदरानगर में रहते थे। संगीत से प्रेम की बाबत उन्होंने बताया कि बचपन से ही उनके कानों में माता-िपता का शास्त्रीय संगीत पड़ा। प्रसून के अनुसार आज भी उनकी माँ उनका मार्गदर्शन करती हैं। वे चाहती हैं कि प्रसून ‘लंदन ड्रीम्स’ जैसे चटपटे गाने न िलखे। प्रसून इस िदशा में भी प्रयास कर रहे हैं कि इंटरनेट के माध्यम से किवताओं को लोगों तक पहुँचाया जाए। उन्हें क्षेत्रीयता से परहेज है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शब्दों में करिश्मा हो तो यादगार होंगे गीत:प्रसून