DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वदेशी वस्तुओं के इस्तेमाल की शपथ ली

पटना। आश्रय अभियान जन कल्याण ग्रामीण विकास समिति के तत्वावधान में गांधी मैदान स्थित गांधी स्मारक के पास संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस संगोष्ठी में झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले गरीब लोग और आश्रयहीन लोगों ने हिस्सा लिया। इस दौरान लोगों ने पर्यावरण और स्वास्थ्य विरोधी नीतियों के खिलाफ और कृषि प्रधान आर्थिक व्यवस्था की उपेक्षापूर्ण रवैया के खिलाफ आवाज उठाई और जागरूकता जगाने के लिए मोमबत्तियां जलाई। संगोष्ठी के दौरान लोगों ने स्वदेशी वस्तु का इस्तेमाल और पर्यावरण की रक्षा करने की शपथ भी ली। संगोष्ठी में कहा गया कि आज के तथाकथित विकसित पाश्चात्य देश एशिया और अफ्रीका के विकासशील देशों को मात्र एक बाजार अथवा प्रयोगशाला मान रहे हैं। बहुराष्ट्रीय कंपनियां भारतीय अर्थव्यवस्था को पंगु बनाकर हम भारतीयों को एक बार फिर गुलाम बनाने की साजिश रच रही हैं। हमारे देश के ग्रामीण रोजगार, कला और यतकनीक ध्वस्त हो चुकी है। बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने हमारे देश में नमक, सब्जी और कपड़े से लेकर गाडिम्यां तक भर दी हैं। हमारी स्वदेशी वस्तु बाजार से गायब होकर खादी ग्रामोद्योग की दुकानों तक सिमट गई हैं। कार्यक्रम में राजेश, रंजीत, धनंजय, सुगम्बर पासवान, कुशेश्वर, आशा देवी, तहसीन, शारदा देवी, मंजू और रुक्मिणी सहित कई अन्य लोगों ने हिस्सा लिया। का.सं.

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: स्वदेशी वस्तुओं के इस्तेमाल की शपथ ली