DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिलजुल कर ही दूर होगी समस्या : व्यास जी

िहन्दुस्तान प्रितिनिधपटना। सूबे से बाल श्रम को मुक्त करने के िलए एक्स प्लान शुरू किया गया है। इसके िलएजिंलास्तर पर कार्यक्रम भी शुरू हो चुका है लेकिन इस समस्या का हल केवल सरकार से ही नहीं होगा बिल्क हम सब को िमलजुल कर काम करना होगा तभी राज्य बाल श्रम से मुक्त होगा। जहां तक फंड की बात है इसकी िचंता न करें। बस अपना सुझाव दें कि क्या और किया जा सकता हैजिंससे बाल श्रम दूर हो सके। ये बातें श्रम संसाधन िवभाग के प्रधान सिचव व्यास जी ने शिनवार को िबहार वोलेन्टरी हेल्थ एसोिसएशन की ओर से बाल अिधकार िवषय पर आयोिजत एक बैठक में कहीं। कार्यक्रम में अितिथयों का स्वागत डा. एम.के. साहनी ने किया। स्वप्न मजुमदार ने िवषय वस्तु पर िवस्तृत रूप से प्रकाश डाला।बैठक में एसोिसएशन के प्रवीण कुमार िसन्हा ने बीड़ी उद्योग में बाल मजदूरों की िस्थित पर िवस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बीड़ी एवं िसगरेट उद्योग से जुड़े मजदूर (मिहलाएं व बच्चों) कम मजदूरी एवं शोषण के िशकार हो रहे हैं। एसोिसएशन द्वारा हाल में किए गए शोध के अनुसार देश में बीड़ी उद्योग में सबसे ज्यादा शोिषत काम काजी मजदूरों की जमात है। बीड़ी उद्योग में चालाकी के साथ कानून का उल्लंघन किया जाता है। एक अध्ययन के अनुसार 76 प्रितशत बीड़ी बनाने वाले एक मजदूर को एक हजार बीड़ी बनाने पर 33 रुपये िमलते हैं। एक हजार बीड़ी बनाने में 12 घंटे से अिधक समय लगता है। इस मोके पर डा. महावीर दास, डा. जे.एम. िदवान, एम. जमान ने भाग िलया। मंच का संचालन राजू शर्मा एवं धन्यवाद ज्ञापन डा. मोख्तारूल हक ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मिलजुल कर ही दूर होगी समस्या : व्यास जी