DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भूमिहीन पासवान को तीन मिलेगी डिसमिल जमीन: नीतीश

पटना, हिन्दुस्तान ब्यूरोमहादलितों के समान पासवान समुदाय के भूमिहीनों को भी मकान बनाने के लिए तीन-तीन डिसमिल जमीन मिलेगा। राजधानी में पहली बार आयोजित बाबा चौहरमल जयंती समारोह में रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह घोषणा की। अगले वर्ष से चौहरमल जयंती को राजकीय मेला का दर्जा देने और पटना के किसी पार्क में भोला पासवान शास्त्री की प्रतिमा लगाने का एलान करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि महादलित अभियान की वजह से पासवान समाज को भ्रम में नहीं पड़ना चाहिए। हम किसी को छोड़ते नहीं है। सबको साथ लेकर चलते हैं। आपके (पासवान) के लिए भी विशेष योजना बन रही है। जल्द ही इसकी घोषणा की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के विकास के लिए हमारे पास कोई जादू की छड़ी नहीं है। हमारे पास सबको साथ लेकर चलने का एक ही मंत्र है जिसकी बदौलत हम नया और सुन्दर बिहार बनाने में सफल होंगे। जिन लोगों ने मौका रहने पर भी कुछ काम नहीं किया। अब उनके पैरों से नीचे से जमीन खिसक चुकी है। इसलिए समाज में भ्रम का वातावरण पैदा किया जा रहा है। ऐसे लोगों से सवाल पूछा जाना चाहिए कि जदयू-भाजपा की सरकार से पहले बिहार में पासवान समुदाय के कितने लोग मुखिया और जिला पार्षद बने थे? हम किसी के साथ भेदभाव नहीं करते। यही वजह है कि सभी जाति की बच्चाियों को साइकिल और पोशाक दी गयी। हम इसकी चिन्ता नहीं करते कि वापसी में क्या मिलेगा। हमारा विश्वास काम करने में है। इसी मैदान (मिलर स्कूल) से महादलित कल्याण अभियान की शुरूआत हुई थी। अब एक बार फिर यहीं से पासवान समुदाय का मान-सम्मान बढ़ाने का अभियान शुरू हो रहा है। उमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि पंचायतों में आरक्षण की बदौलत बिहार में पासवान समुदाय के लगभग एक हजार लोग मुखिया बन सके। उपमुख्यमंत्री ने अपने खर्च से बाबा चौहरमल की प्रामाणिक जीवनी प्रकाशित कराने की घोषणा की। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए भवन निर्माण मंत्री ने कहा कि 21 सितम्बर से पहले पटना में पूर्व मुख्यमंत्री भोला पासवान शास्त्री की प्रतिमा लग जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भूमिहीन पासवान को तीन मिलेगी डिसमिल जमीन: नीतीश