DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छठव्रतियों ने दिया डूबते सूर्य को अध्र्य चैती छठ पर गंगा

िहन्दुस्तान प्रितिनिधपटनाभिक्त से सराबोर राजधानी के गंगा तटों पर रिववार को छठव्रितयों ने डूबते सूर्य को अघ्र्य िदया। व्रितयों ने घरों की छतों व तालाबों में भी भगवान भास्कर को अघ्र्य अिर्पत किए। दूर-दराज के ग्रामीण इलाकों से आये छठव्रितयों ने गंगा के पावन तटों पर अघ्र्य देकर भगवान भास्कर से जीवन में सुख-शािंत की कामना की। सोमवार को उगते सूर्य को अघ्र्य देने के बाद व्रती अन्न जल ग्रहण करेंगे। समाहरणालय घाट, अंटा घाट, कृष्णा घाट, दरभंगा हाऊस काली घाट, घघा घाट, गायघाट व महेन्द्रू घाट समेत अन्य घाटों पर अघ्र्य िदया गया। छठव्रितयों द्वारा गाये जा रहे गीतों से घाटों का वातावरण भिक्तमय था। घाटों पर आस्था की पराकाष्ठा िदखायी पड़ी। राजधानी में इस मौके पर अद्भूत नजारा था। रिववार की दोपहर बाद से ही व्रितयों के साथ लोगों का हुजूम माथे पर दउरा उठाए गंगा घाटों की ओर चला आ रहा था। क्या आम क्या खास सभी की भिक्त इस मौके पर देखने लायक थी। सड़कों व गिलयों को साफ-सुथरा किया गया था। हालांकि तेज धूप से व्रितयों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। व्रितयों के साथ ही पर्व को देखने और डूबते सूर्य को नमन करने वालों की भी अच्छी तादाद गंगा तटों पर उमड़ी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छठव्रतियों ने दिया डूबते सूर्य को अध्र्य चैती छठ पर गंगा