DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मांगें पूरी नहीं हुई तो आंदोलन

एआईबीईए के महासचिव सीएच वेंकटाचलम ने कहाहिन्दुस्तान प्रतिनिधिपटना। ऑल इंडिया बैंक इम्प्लाइज एसोसिएशन के महासचिव सीएच वेंकटाचलम ने कहा कि यदि केन्द्र सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती है तो मई के बाद एक बैठक कर पूरे देश में चरणबद्ध आंदोलन शुरू करेंगे। रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन में श्री वेंकटाचलम ने बताया कि देश के विकास के लिए कृषि क्षेत्र को विकसित करना अत्यंत आवश्यक है। इसके बिना देश खुशहाल नहीं होगा। सरकार भी इस चीज को अच्छी तरह जानती है कि जब तक किसानों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होगी तब तक न ही अच्छा उत्पादन होगा और न महंगाई घटेगी। पर अफसोस की बात यह है कि किसानों को लोन की व्यवस्था करने के लिए केन्द्र सरकार प्राइवेट बैंक एवं नन बैंकरों को लाइसेंस देकर बढ़ावा दे रही है। इन बैंकों का ब्याज दर भी काफी अधिक है। गांव के लोगों को बेवकूफ बनाने की तैयारी की जा रही है। ऐसे में एआईबीईए चुप बैठने वाली नहीं है। मई में एआईबीईए का प्रतिनिधिमंडल केन्द्र सरकार से मिलेगा और अपनी मांगों को उनके समक्ष प्रस्तुत करेगा। अगर सरकार उनकी मांगों को पूरा नहीं करती है तो बाध्य होकर एआईबीईए को आंदोलन का रास्ता अपनाना होगा और इसकी पूरी जवाबदेही केन्द्र सरकार की होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मांगें पूरी नहीं हुई तो आंदोलन