DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूरी मानवता गुजर रही है संकट से: राज्यपाल मुस्लिम सोच का

िहन्दुस्तान प्रितिनिधपटना। संकट केवल मुिस्लम सोच में ही नहीं है बिल्क पूरी मानवता इससे प्रभािवत है। इस्लाम को दुिनया की एक ितहाई आबादी की हैिसयत से नहीं देखना चािहए बिल्क इसे पूरी दुिनया की हैिसयत से देखा जाना चािहए। राज्यपाल देवानंद कुंवर ने ये बातें इंस्टीटय़ूट ऑफ ऑब्जेिक्टव स्टडीज (आईओएस) व फोरम फॉर िलटरेसी अवयेरनेस एण्ड मुिस्लम एडुकेशन (फ्लेम) के संयुक्त बैनर तले आयोिजत सम्मेलन में कहीं। रिववार को एएन िसन्हा इंस्टीटय़ूट में ‘मुिस्लम सोच का संकट और समकालीन िवश्व’ पर आयोिजत दो िदवसीय सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए महामिहम ने कहा कि दुिनया के सभी धर्मों में बुिनयादी बातों में कोई फर्क नहीं है। फ्लेम के अध्यक्ष डा. एए हई ने अितिथयों का स्वगात करते हुए कहा कि इल्म से विंचत होना और तालीम की कमी से ही संकट पैदा होते हैं। आईओएस के महासिचव प्रो. मो. जहूर खान ने कहा कि इस तरह के सम्मेलन से आम लोगों को िशक्षा के प्रित जागरुक करने में मदद िमलेगी। वहीं आईओएस के चेयरमैन डा. मंजूर आलम ने कहा कि जब तक मुसलमान कुरआन के मकसद को नहीं जानेंगे तब तक वे दूसरों के साथ इंसाफ नहीं कर सकते। हम समाज को कुछ नहीं दे रहे हैं। प्रो. अब्दुल हमीद अबू सुलेमान ने कहा कि मुिस्लम सोच में संकट की वजह यह है कि लोग मजहब की बुिनयादी बातों से दूर होते चले गए। आईओएस के िनदेशक डा. एसएफ रब ने कहा कि इस्लाम ने सबों के अमन, सलामती, आजादी, समानता, बुिनयादी मानवािधकार, न्याय का सबक िदया है। इस मौके पर फरहत हसन, शफी मशहदी आिद भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पूरी मानवता गुजर रही है संकट से: राज्यपाल मुस्लिम सोच का