DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परीक्षा रद्द होने से आक्रोशित छात्रों ने किया हंगामा अन्वेषक व

िहन्दुस्तान प्रितिनिधपटना। पटना िवश्विवद्यालय की प्रशासिनक व्यवस्था की खािमयां एक बार िफर उजागर हुई हैं। िवश्विवद्यालय प्रशासन की गड़बड़ी के कारण अन्वेषक व िवश्लेषक के पदों पर िनयुिक्त की प्रक्रिया एक बार िफर स्थिगत कर दी गयी है। इन पदों पर िनयुिक्त के िलए रिववार को परीक्षा होने वाली थी। जब उम्मीदवार परीक्षा केंद्र पर पहुंचे तो उन्हें बताया गया कि परीक्षा को िफर स्थिगत कर िदया गया है। बाद में उन पदों पर िनयुिक्त की प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा। इसके बाद आक्रोिशत छात्रों ने वहां जमकर हंगामा मचाया।पटना िवश्विवद्यालय में अराजकता की िस्थित का आलम यह है कि परीक्षा से पूर्व इसको रद्द करने की घोषणा नहीं की जा सकी है। िविव प्रशासन ने अन्वेषक व िवश्लेषक के पदों पर िनयुिक्त के िलए पहली बार जनवारी में ितिथ िनर्धािरत की थी। छात्र जब परीक्षा देने पहुंचे तो उन्हें इससे विंचत कर िदया गया। बाद में बताया गया कि परीक्षा स्थिगत कर दी गयी है। िविव प्रशासन ने दोबारा 14 मार्च को इस परीक्षा के िलए आवेदन पत्र जारी किया। दोबारा जब रिववार को छात्र परीक्षा देने पटना िविव पिरसर पहुंचे तो वहां एक बार िफर िस्थित पहले जैसी थी। कुलसिचव डा. मनोज कुमार ने अभ्यिर्थयों को अगली ितिथ तक परीक्षा स्थिगत होने की जानकारी दी। इसके बाद एक सूचना बाहर में लटका दी गयी। आक्रोिशत अभ्यिर्थयों ने जमकर कुलपित के िखलाफ नारेबाजी की। इस संबंध में िवश्विवद्यालय के एक पदािधकारी ने बताया कि िविव प्रशासन परीक्षा की तैयािरयों को पूरा नहीं कर सका है। इस कारण परीक्षा की ितिथ को आगे बढ़ाया गया है। वहीं परीक्षार्थी हर्षवर्धन व अशोक ने कहा कि बार-बार परीक्षा रद्द करना िविव प्रशासन की अदूरदिर्शता का पिरणाम है। अभ्यिर्थयों को आिर्थक संकट व मानिसक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: परीक्षा रद्द होने से आक्रोशित छात्रों ने किया हंगामा अन्वेषक व