DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमानत पर चली रही मनसे नेताओं की जिंदगी : संजय

पटना (हि.ब्यू.)। उत्तरी मुम्बई से कांग्रेस के सांसद संजय निरुपम ने कहा कि बिहारियों समेत उत्तर भारतीयों पर हमले को लेकर मनसे नेताओं की नींद हराम है। मनसे नेताओं और कार्यकर्ताओं पर कुल 9000 केस दर्ज हैं। एमएनएस नेताओं की जिंदगी जमानतों पर चल रही है। शायद ही कोई थाना या कोई कोर्ट बचा हो, जहां उन पर मामले न चल रहे हैं। एक कार्यक्रम में अपने ननिहाल गया से लौटने के क्रम में पटना में उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में बिहारियों की प्रताडऩा के सबसे बड़े जवाब वे खुद हैं, जिसे महाराष्ट्र के लोगों ने अपना प्यार देकर लोकसभा भेजा है। श्री निरुपम ने कहा कि मनसे का विरोध चार दशक से चल रहा है पर हर साल उत्तर भारतीयों की संख्या महाराष्ट्र में बढ़ रही है। राहुल राज के केस की जांच रिपोर्ट पर श्री निरुपम ने कहा कि वे मुम्बई जाते ही रिपोर्ट देखेंगे और जरूरी हस्तक्षेप करेंगे। उन्होंने कहा कि जो काम करता है वही मुम्बई में टिकता है। 90 फीसदी टैक्सी चालक यूपी, बिहार के हैं। 50 फीसदी से अधिक आटो चालक बिहार के हैं। इन्हें परमिट महाराष्ट्र गवर्नमेंट ने ही दिए हैं। परमिट के प्रावधानों में व्यावहारिक रूप से कोई दिक्तत नहीं है पर सैद्धांतिक रूप से गलत है। महिला आरक्षण बिल को लेकर लालू प्रसाद के रुख पर संजय निरुपम ने कहा कि वे अपने ही घर से कट गए हैं। अगले छह माह बाद बिहार में विधानसभा का चुनाव भी है। लालूजी का स्टैंड उसी को लेकर है। 13 साल बाद गया की बिजली-पानी और सडक़ व्यवस्था में कोई परिवर्तन नहीं देखने पर कांग्रेस सांसद ने दुख प्रकट किया। इस मौके पर कांग्रेस महासचिव समीर कुमार महासेठ और राजेश सिन्हा भी मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जमानत पर चली रही मनसे नेताओं की जिंदगी : संजय